किसान संगठनों ने इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है. हालांकि, राकेश टिकैत का कहना है कि अगर सुप्रीम कोर्ट इससे इनकार करेगा तो इससे रद्द कर देंगे.

1 किसानों और सरकार में आज फिर बातचीत.
2 टिकैत बोले सुप्रीम कोर्ट के कहने पर रद्द करेंगे ट्रैक्टर रैली.
3 क्या है किसानो का प्लान.

किसान संगठन और केन्द्र सरकार के बीच शुक्रवार को एक और दौर के बीच बातचित हो रही है. वही कृषि कानून को वापस के मांग को लेकर किसान अड़े हुए है और 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकलने का एलान किया है. हालाँकि, किसान नेता राकेश टिकैत ने सकरवार को कहा की अगर सुप्रीम कोर्ट इसे रैली निकालने से माना करेगा तो हम रद्द कर देंगे.

वही आपको बता दे की भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने प्रेस से बात कलरते हुए कहा की कृषि कानून सरकार ने बनाई है तो सरकार से बातचीत वो जारी रख रहे है. सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है. लेकिन जो कमेटी बनाई गई है उसमे अधिक लोग कानून के समर्थन वाले लोग है.

किसान संगठनों के ग्रुप में शामिल किसान नेता अभिमन्यु का कहना है कि जब तक तीनों कानून रद्द नहीं होते हैं और एमएसपी गारंटी कानून नहीं बनता है, तबतक हमारा आंदोलन जारी रहेगा. जहां तक सुप्रीम की कमेटी का मामला है, उसमें तो वही लोग सदस्य बनाए गए हैं जो इन कानूनों के समर्थन करते रहे हैं.