कोरोना संकट अभी जारी है। हर दिन करीब 90 हजार से ज्यादा कोरोना वायरस के मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद शिक्षा मंत्रालय ने सोमवार 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के स्कूलों को फिर से खोलन की इजाजत दे दी है। हालांकि अभी भी राज्यों के बीच स्कूलों को दोबारा खोलने जाने को लेकर आम सहमति नहीं है। कई राज्यों में लॉकडाउन दोबारा लागू कर दिया गया है, वहीं कुछ राज्यों में लगातार मामले सामने आने के बाद सरकार फिलहाल इस संबंध में कोई भी निर्णय नहीं ले पा रही है। ऐसे में 21 सितंबर से गिने-चुने राज्‍यों में ही कक्षा 9 से 12 तक के स्‍कूल खुल रहे हैं।

शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी व्यवस्था के अनुसार बच्‍चे स्‍कूल में तभी दाखिल हो सकेंगे जब उनके पास पैरेंट्स की रिटेन परमिशन होगी। शुरू में केवल 50% टीचर्स और स्‍टाफ को ही अनुमति दी गई है। स्कूल को कोरोना से बचने के लिए सारे उपाय होंगे। मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग अनिवार्य हैं, एंट्री पर थर्मल स्‍क्रीनिंग होगी। खुले में क्‍लासेज नहीं लगनी हैं, साथ ही सीटिंग अरेंजमेंट ऐसा होगा जिससे स्‍टूडेंट्स के बीच कम से कम 6 फीट की दूरी रह सके। आइए जानते हैं कि देश के किन राज्यों ने सोमवार से स्कूलों को खोले जाने की तैयारी कर ली है और कहां अभी तक इस बार में सरकार ने कोई भी निर्णय नहीं लिया है।

कोरोना संकट के बीच देश के कई राज्यों ने खास इंतजामों के साथ स्कूलों को दोबारा खोलने का निर्णय लिया है। हरियाणा सरकार ने केंद्र की गाइडलाइंस के अनुसार 21 सितंबर से स्‍कूल खोलने को अनुमति दे दी है। असम में भी सोमवार से स्‍कूल खुल रहे हैं। यहां डीटेल्‍स एसओपी जारी किए गए हैं। यहां कक्षा 9 और 10 के लिए अलग दिन स्‍कूल खुलेंगे और कक्षा 11 और 12 के लिए अलग दिन। इसके अलावा जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, नगालैंड, मेघालय, आंध्र प्रदेश में स्कूलों को खोलने की अनुमति दे दी गई है। वहीं चंडीगढ़ में आंश‍िक तौर पर स्‍कूल खोलने की अनुमति दी गई है। यहां एक क्‍लास में केवल 15 स्‍टूडेंट्स को बैठने की अनु​मति दी गई है।

कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित महाराष्‍ट्र में 30 सितंबर तक स्‍कूल बंद हैं। वहीं उत्‍तर प्रदेश की सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से स्‍कूल 21 सितंबर से नहीं खोलने का फैसला किया है। वहीं दिल्ली में 5 अक्टूबर तक स्कूलों को बंद किया गया है। इसके अलावा गुजरात सरकार ने दिवाली तक स्‍कूल बंद रखने का फैसला किया है। मध्‍य प्रदेश में आंशिक रूप से स्‍कूल खुलेंगे। यहां पूरी तरह से कक्षाएं नहीं शुरू की जाएगी। पश्चिम बंगााल में बढ़ते कोरोना केसेज की वजह से स्‍कूल अभी बंद रखे गए हैं। लेकिन बिहार सरकार ने इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी है। दूसरी ओर झारखंड में 30 सितंबर तक स्‍कूल बंद हैं। छत्‍तीसगढ़ में कल ही सरकार ने रायपुर समेत 6 शहरों में लॉकडाउन लागू किया है। राजस्‍थान में भी स्‍कूल खुल रहे हैं लेकिन कई प्राइवेट स्‍कूल बंद ही रहेंगे। केरल में अक्‍टूबर तक स्‍कूल बंद रखने की योजना है। कर्नाटक में सरकार ने कक्षा 9 से 12 तक के स्‍कूल और प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज खोलने पर रोक लगा दी है।

स्‍कूलों पर केंद्र सरकार की क्‍या हैं गाइडलाइंस?

फिलहाल सिर्फ उन्हीं स्कूलों को खुलने की इजाजत है जो कंटेनमेंट जोन में नहीं हैं। इस जोन से बाहर स्थित स्कूलों में भी उन शिक्षकों, कर्मचारियों व विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा जो कंटेनमेंट जोन में रहते हैं। वहीं, स्कूल जाने वाले स्टूडेंट्स, टीचर्स व स्टाफ को भी कंटेनमेंट जोन वाले क्षेत्रों में जाने की अनुमति नहीं होगी।