इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवादों का लगातार सामना कर रहा है. इस विवाद के बीच कंपनी ने केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइन को स्वीकार कर लिया है. हालांकि कंपनी ने पहले इस गाइडलाइन पर अपना विरोध भी दर्ज करवाया था. वहीं इन सबके बीच व्हाट्सऐप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर नया बयान जारी किया है, जिसके बाद यूजर्स को कहीं ना कहीं राहत मिलेगी. आपको बताते हैं कंपनी ने अपने नए बयान में क्या कहा है.

पहले ये था बयान

WhatsApp ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करने वाले यूजर्स के लिए कहा था कि अगर प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं किया तो यूजर्स का अकाउंट डिलीट कर दिया जाएगा. फिर हंगामा होने पर कंपनी ने कहा कि ऐसे यूजर्स का अकाउंट डिलीट नहीं किया जाएगा, बल्कि प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करने वाले यूजर्स  यूजर्स की कुछ सुविधाओं पर रोक लगाई जाएगी. मतलब ऐसे यूजर्स कॉल और मैसेज जैसी कई सुविधाओं का लाभ नहीं ले सकेंगे.

WhatsApp ने अब ये कहा

WhatsApp ने अपने नए बयान में कहा है कि अगर यूजर्स नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करेंगे तो भी उनकी सुविधाओं पर रोक नहीं लगाई जाएगी. इसका मतलब ये है कि नई पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करने वाले यूजर्स के लिए कंपनी किसी भी फीचर को बंद नहीं करेगी. व्हाट्सऐप के इस बयान के बाद उन यूजर्स को राहत मिलेगी जो इस नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करने में असमर्थ थे.

करते रहेंगे अलर्ट

WhatsApp ने इस ऐलान के साथ ये भी कहा है कि भले ही यूजर्स के लिए फीचर्स बंद नहीं किए जाएंगे लेकिन नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूजर्स को अलर्ट मिलता रहेगा. कंपनी ने ये भी दावा किया है कि ज्यादातर यूजर्स ने प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट कर लिया है.