कोरोना महामारी के बढ़ते कहर को देखते हुए एक मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को टीके लगाए जाएंगे. इसे ध्यान में रखते हुए भारत बायोटेक ने मई में 30 मिलियन खुराक के उत्पादन का लक्ष्य रखा है. अप्रैल में कंपनी की क्षमता 20 मिलियन और मार्च में 15 मिलियन डोज की रही है.

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) महामारी के बीच यह सवाल सबसे ज्यादा पूछा जा रहा है कि क्या वैक्सीन (Vaccine) लगवाने के बाद भी कोरोना हो सकता है? कुछ मामले ऐसे सामने आए हैं, जहां वैक्सीनेशन के बाद भी लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं. इस वजह से वैक्सीन को लेकर डर और आशंका बरकरार है. भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक डॉक्टर कृष्णा एला (Krishna Ella) ने स्पष्ट किया है कि वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी कोई व्यक्ति संक्रमित हो सकता है. उन्होंने कहा कि टीका केवल निचले फेफड़े की रक्षा करते हैं, ऊपरी फेफड़े की नहीं. इसलिए वैक्सीनेशन के बाद भी कोरोना का खतरा बना रहता है.

Mask लगाना है बेहद जरूरी

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के अनुसार, डॉक्टर कृष्णा एला ने मास्क (Mask) लगाने पर जोर देते हुए कहा कि सभी इंजेक्टेबल वैक्सीन (Injectable Vaccines) के साथ ऐसा ही होता है. टीका केवल संक्रमण को गंभीर होने से रोकता है और बीमारी को जानलेवा नहीं बनने देता. बता दें कि देश में कोरोना की दूसरी लहर के चलते संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. लगभग हर रोज पहले से ज्यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं. साथ ही मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. एक तरफ जहां स्थिति नियंत्रण से बाहर हो रही है. वहीं, रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir) और ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी ने पूरे देश को सकते में डाल दिया है.

Production बढ़ाएगी Bharat Biotech

कोरोना के कहर को देखते हुए एक मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को टीके लगाए जाएंगे. इसे ध्यान में रखते हुए भारत बायोटेक ने मई में 30 मिलियन खुराक के उत्पादन का लक्ष्य रखा है. अप्रैल में कंपनी की क्षमता 20 मिलियन और मार्च में 15 मिलियन डोज की रही है. भारत बायोटेक ने एक बयान में कहा कि कोवैक्सीन की प्रति वर्ष 700 मिलियन यानी 70 करोड़ डोज बनाने पर काम किया जा रहा है. वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू होने के बाद डिमांड पूरी करने के लिए तेजी से वैक्सीन बनाने होगी. राज्य सीधे निर्माता कंपनी से वैक्सीन खरीद सकेंगे. असम पहले ही भारत बायोटेक को एक करोड़ डोज का ऑर्डर दे चुका है.

यहां Free में लगेगी Vaccine

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि एक मई से 18 साल और उससे ज्यादा उम्र के लोगों को कोविड-19 का टीका मुफ्त लगाया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार शाम को हुई ऑनलाइन बैठक में यह फैसला लिया गया. हालांकि, जो लोग सक्षम हैं और टीके की कीमत चुका सकते हैं, उनसे सरकार ने अपील की है कि वह निजी अस्पतालों में जाकर टीका लगवा लें. राज्य सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी ने टीकाकरण के तीसरे चरण पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले से कोविड-19 के बेहतर प्रबंधन में मदद मिलेगी और कोरोना वायरस को काबू करने में सहायता हासिल होगी.