सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी कि सरकार ने सड़क निर्माण से जुड़े 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड महीनेभर के भीतर बनाए हैं. यहां पाएं पूरी जानकारी.

केंद्र सरकार देश में इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास पर जोर दे रही है. इसी बारे में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी कि सरकार ने सड़क निर्माण से जुड़े 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड महीनेभर के भीतर बनाए हैं. यहां पाएं पूरी जानकारी.

रोज बनाई 37 किलोमीटर सड़क

नितिन गडकरी शुक्रवार को लखनऊ में एक फ्लाईओवर के शिलान्यास के मौके पर बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि भारत के पास दुनिया में सबसे तेजी से सड़क निर्माण का रिकॉर्ड है. मार्च में हम औसत 37 किलोमीटर सड़क प्रतिदिन निर्माण करने के लक्ष्य को छू चुके हैं. वित्त वर्ष 2020-21 में उनके मंत्रालय ने 13,394 किलोमीटर सड़क बनाने का काम किया. उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के बावजूद हम ये मुकाम हासिल करने में सफल रहे हैं.

24 घंटे में बना 2.5 किलोमीटर का फोर लेन हाइवे

इससे पहले भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के एक कॉन्ट्रैक्टर ने दिल्ली-वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेसवे के 2.5 किलोमीटर से अधिक लंबे हिस्से पर 24 घंटे में कंक्रीट का रोड बनाया था. इस दौरान 24 घंटे में 48,711 वर्ग मीटर कंक्रीट को बिछाया गया. यह अपने आप में वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

25.5 किलोमीटर का कोलतार सड़क 18 घंटे में

इससे पहले नितिन गडकरी ने सड़क निर्माण क्षेत्र में एक और गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाए जाने की जानकारी दी थी. NHAI के एक कॉन्ट्रैक्टर ने 18 घंटे में 25.54 किलोमीटर के सिंगल लेन कोलतार रोड का निर्माण किया था. यह सोलापुर-बीजापुर (NH-52) के बीच बन रहे 4 लेन के हाइवे का हिस्सा है.

नितिन गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है. उन्हें सड़क निर्माण की जिम्मेदारी दी गई है. जबकि इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हमारी सरकार अगले 5 साल में 111 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी.