भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच वैक्सीनेशन का काम भी तेजी से हो रहा है. इसके बावजूद भी लोग वैक्सीन लेने से हिचक रहे हैं. इसी बीच ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जहां सरकारें या प्रशासन कोरोना वैक्सीन लगवाने के बदले लोगों को ऑफर भी दे रही हैं. ऐसा ही दिलचस्प मामला अमेरिका से सामने आया है जहां वैक्सीन के बदले बीयर और गांजा दिया जा रहा है.

दरअसल, तमाम देशों में एक्सपर्ट फिलहाल वैक्सीन और मास्क को ही इस महामारी को रोकने का सबसे मजबूत तरीका मान रहे हैं. मगर इसके बावजूद भी काफी लोग वैक्सीन लगवाने में बहुत रुचि नहीं ले रहे हैं. इसी के चलते कई देशों में सरकार और निजी कंपनियां लोगों को तरह-तरह के लुभावने ऑफर दे रही हैं.

न्यूयॉर्क पोस्ट की एक रिपोर्ट मुताबिक, अमेरिका के ओहियो में वैक्सीन लगवाने वाले कुछ लोगों को एक कंपनी ने बीयर का ऑफर भी दे रखा है. वहीं अमेरिका के ही मिशिगन में मारिजुआना बनाने कंपनी युवाओं को गांजा तक भी उपलब्ध करा रही है. अमेरिका के कई शहरों में ऐसे ही मुफ्त और लुभावनी चीजें दी जा रही हैं.

अमेरिका में ही डोनट कंपनी क्रिप्सी क्रीम वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को डोनट भी दे रही है. न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग के कई वैक्सीन सेंटरों पर फ्री आइसक्रीम दी जा रही है.

इसके अलावा कुछ जगहों पर लोकल प्रशासन वैक्सीन लगवाने आने वाले लोगों को फ्री किराया दे रही है. कई निजी कंपनियां अपने कर्मचारियों को छुट्टी भी दे रही हैं ताकि वे जाएं और कोरोना वैक्सीन लगवाएं.

चीन की बात करें तो वहां भी सरकार और कंपनियां वैक्सीन लगवाने के लिए कई तरह के ऑफर दे रही हैं. हालांकि वहां के कुछ शहरों में अनिवार्य वैक्सीनेशन का आदेश सुना दिया गया है. हेनान प्रांत के एक शहर में स्थानीय प्रशासन ने वैक्सीन ना लगवाने वालों को चेतावनी भी दे दी है.

उबर कंपनी ने भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में वैक्सीन लगवाने के लिए फ्री राइड की सुविधा भी ऑफर की है. इन सबके बावजूद भी भारत ही नहीं कई देशों में कुछ लोग वैक्सीन में बहुत ज्यादा रूचि नहीं दिखा रहे हैं. हालांकि बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन लगवा भी रहे हैं.

भारत में तो वैक्सीनेशन को लेकर राजनीति तेज हो गई है. महाराष्ट्र, झारखंड समेत कई राज्यों ने पहले ही वैक्सीन की कमी की बात कह दी है. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर किसी से ‘वैक्सीन उत्सव’ मनाने को कहा है. महाराष्ट्र सरकार लगातार केंद्र पर आरोप लगा रही है कि उनकी ज़रूरत के मुताबिक वैक्सीन नहीं मिल रही है.

बीते दिन महाराष्ट्र के कई जिलों के सेंटर्स पर वैक्सीनेशन इसलिए रोक दिया गया, क्योंकि वहां पर वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो गया था. महाराष्ट्र के अलावा झारखंड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश समेत अन्य कुछ राज्यों ने भी ये मांग की है. यूपी के कुछ सेंटर्स पर भी वैक्सीन ना होने के कारण वैक्सीनेशन रोका गया.

हालांकि, भारत में राज्यों के आरोप के बीच केंद्र सरकार का कहना है कि वैक्सीन की कमी नहीं है, हर किसी को ज़रूरत के हिसाब से वैक्सीन दी जा रही है. कई राज्य वैक्सीनेशन धीमी गति से चला रहे हैं, उन्हें तेज़ी लाने की जरूरत है.