गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि उन्होंने उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा की सूचना के बारे में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से खुद बात की है और तमाम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने ITBP के डीजी और NDRF के डीजी से भी बात की है.

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने के बाद भारी तबाही की खबरें आ रही है. गृह मंत्रालय ने आपदा के बाद फंसे लोगों को मदद पहुंचाने और रेस्क्यू करने के लिए पूरे संसाधन और ताकत झोंक दी है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि उन्होंने उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा की सूचना के बारे में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से खुद बात की है और तमाम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने ITBP के डीजी और NDRF के डीजी से भी बात की है. सभी संबंधित अधिकारी लोगों को सुरक्षित करने में युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं. NDRF की टीमें बचाव कार्य के लिए निकल गई हैं. अमित शाह ने कहा कि देवभूमि को हर सम्भव मदद दी जाएगी.

अमित शाह ने कहा कि NDRF की कुछ और टीमें दिल्ली से एयरलिफ्ट करके उत्तराखंड भेजी जा रही हैं. हम वहा की स्थिति को निरंतर मॉनिटर कर रहे हैं. अमित शाह ने कि वहां पर NDRF की तीन टीम और SDRF की टीम पहुंच गई है.

अमित शाह ने कहा कि NDRF की कुछ और टीमें दिल्ली से एयरलिफ्ट करके उत्तराखंड भेजी जा रही हैं. हम वहा की स्थिति को निरंतर मॉनिटर कर रहे हैं. अमित शाह ने कहा कि MoS नित्यानंद खुद गृह मंत्रालय में हालात का जायजा ले रहे हैं.

गृह मंत्री ने कहा कि कुछ लोगों के हताहत होने की खबर भी आई है. उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओम प्रकाश के मुताबिक 150 लोगों के पानी में बहने की आशंका है.

चमोली में रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए वायुसेना और आर्मी के हेलिकॉप्टरों और जवानों को लगाया गया है. ऋषिकेश में राइवाला के नजदीक मिलिट्री स्टेशन के जवान स्थानीय प्रशासन के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे हुए हैं. आर्मी मुख्यालय से स्थिति पर नजर रखी जा रही है. इंडियन आर्मी के अनुसार 600 जवानों को बाढ़ प्रभावित इलाके में भेजा रहा है.

वायुसेना के मुताबिक तीन एमआई-17 हेलिकॉप्टर और एक धुव्र हेलिकॉप्टर जो कि देहरादून में मौजूद थे उन्हें बाढ़ प्रभावित इलाकों में भेजा गया है. जरूरत पड़ने पर और विमानों को भेजा जाएगा.

उत्तराखंड के श्रीनगर में SDRF की टीम लोगों को नदी के किनार न जाने को कह रही है.  SDRF के अधिकारी नवनीत भूल्लर खुद  रेस्क्यू ऑपरेशन  की कमांन संभाले हैं. वे खुद चमोली रवाना हो गए हैं.