6 बार की यूएस ओपन चैम्पियन सेरेना विलियम्स यूएस ओपन के दूसरे राउंड में पहुंच गई। उन्होंने बेटी ओलिंपिया के तीसरे जन्मदिन के मौके पर टूर्नामेंट में रिकॉर्ड 102वीं जीत दर्ज की। वे अब मेंस और वुमेंस दोनों कैटेगरी में सबसे ज्यादा मैच जीतने वाली खिलाड़ी हो गईं। उन्होंने अमेरिका की क्रिस एवर्ट का ही रिकॉर्ड तोड़ा। उधर, बड़ी वहन वीनस विलियम्स पहली बार यूएस ओपन के पहले राउंड से हारकर बाहर हो गईं। ये उनका 22वां यूएस ओपन टूर्नामेंट था।

39 साल की सेरेना ने अमेरिका की क्रिस्टी एन को सीधे सेटों में 7-5, 6-3 से हराया। लेकिन वीनस को कैरोलीना मुचोवा ने 6-3, 7-5 से शिकस्त दी। पिछले पांच ग्रैंड स्लैम में यह चौथा मौका था, जब वीनस ओपनिंग मैच हारकर ही टूर्नामेंट से बाहर हो गईं।

मैं इस जीत से बहुत खुश हूं: सेरेना

दूसरे राउंड में पहुंचने के बाद सेरेना ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ जब हौसला बढ़ाने के लिए दर्शक नहीं थे। लेकिन फिर भी मैंने खुद को मोटिवेट रखा। दोबारा टेनिस शुरू होने पर सेरेना की सीधे सेटों में यह पहली जीत है। इससे वे बहुत खुश हैं।

सेरेना के पास 24वां ग्रैंड स्लैम जीतने का मौका

उन्होंने कहा कि काफी सालों बाद में मैंने सीधे सेटों में जीत दर्ज की। मुझे पता था कि अगर मैं खुद पर यकीन रखूंगी, तो ऐसे करने में सफल रहूंगी। वे मेजर टूर्नामेंट के पहले राउंड में 74 मैच जीती हैं, जबकि एक ही में उन्हें हार मिली है। सेरेना के पास 24वां ग्रैंड स्लैम जीतने का मौका है। अगर वे ऐसा करने में सफल होती हैं, तो मार्गरेट कोर्ट के ऑल टाइम ग्रैंड स्लैम रिकॉर्ड जीतने की बराबरी कर लेंगी।

एंडी मरे ने 4 घंटे चले मैच में जीत दर्ज की

इधर, ब्रिटेन के एंडी मरे भी यूएस ओपन के अगले दौर में पहुंच गए। उन्होंने 4 घंटे चले एक कड़े मुकाबले में योशिहितो निशिओका को 4-6, 4-6, 7-6(5), 7-6(4) और 6-4 से हराया। पहले दो सेट हारने के बाद इस ब्रिटिश खिलाड़ी ने जोरदार वापसी की और अगले दो सेट टाइब्रेकर में जीते। इसके बाद आखिरी सेट जीतते हुए मैच अपने नाम कर लिया। वे 2019 के ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद वे पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट में उतरे हैं।

मुगुरुजा भी दूसरे राउंड में

  1. वहीं, पूर्व फ्रेंच ओपन और विंबलडन चैम्पियन स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा भी दूसरे दौर में पहुंच गई। उन्होंने जापान की नाओ हिबिनो को सीधे सेटों में 6-4, 6-4 से हराया। मुगुरुजा इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में भी पहुंचीं थी, लेकिन खिताब नहीं जीत सकीं। उन्हें अमेरिका की सोफिया केनिन ने फाइनल में हराया था।