नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के नए मामले आने का सिलसिला लगातार बना हुआ है, हालांकि ठीक होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ रही है जिस वजह से कोरोना वायरस के रिकवरी रेट में तेजी से सुधार हो रहा है और यह बढ़कर 82.58 प्रतिशत तक पहुंच गया है। लेकिन कोरोना की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या पर अभी तक कोई कमी नहीं आई है और रोजाना 1000 से ज्यादा लोगों की जान इस वायरस की वजह से जा रही है।

कोरोना के नए मामलों की बात करें तो पिछले 24 घटों यानि रविवार सुबह 8 बजे से लेकर सोमवार सुबह 8 बजे के दौरान देशभर में कुल 79170 नए मामले आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में अब कुल कोरोना वायरस मामलों का आंकड़ा बढ़कर 60.74 लाख हो गया है। लेकिन इसमें अधिकतर लोग ठीक हो चुके हैं।

कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या ज्यादा तेजी से बढ़ रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में कुल 74893 लोग ठीक हुए हैं और अबतक देशभर में कुल 5016520 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट 82.58 प्रतिशत तक पहुंच गया है। कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 962640 दर्ज की गई है। पिछले 10 दिनों में सिर्फ 2 दिन एक्टिव केस बढ़े हैं और बाकी 8 दिन इनमें कमी आई है। आज जारी हुए आंकड़ों में भी एक्टिव मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

लेकिन सबसे ज्यादा चिंता की बात ये है कि कोरोना वायरस की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों में 1039 लोगों ने देशभर में कोरोना की वजह से जान गंवाई है। कोरोना वायरस अबतक देश में 95542 लोगों की मौत का कारण बन चुका है।

कोरोना मरीजों की पहचान के लिए देशभर में लगातार टेस्टिंग हो रही है, रविवार को देशभर में 7.09 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट हुए हैं। देश में कुल कोरोना वायरस टेस्टिंग का आंकड़ा अब बढ़कर 7.19 करोड़ को पार कर चुका है। दुनियाभर में अमेरिका के बाद भारत में ही सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट हो रहे हैं।

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के मामलों की बात करें तो दुनियाभर में कुल मामलों का आंकड़ा बढ़कर 3.33 करोड़ के पार पहुंच गया है, अबतक दुनियाभर में कोरोना वायरस की वजह से 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि पूरी दुनिया में 2.46 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से ठीक भी हो चुके हैं। दुनियाभर में कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले अमेरिका में हैं जहां पर 73.21 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं और 2.09 लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। इसके बाद भारत का स्थान है और भारत के बाद तीसरे नंबर पर ब्राजील है जहां पर 47.32 लाख मामले सामने आए हैं और 1.41 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है। रूस में भी 11.51 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं और 20 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई है।