26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हुए झड़प के बाद सभी किसान नेता आज बैठक करेंगे.सभी किसान नेता आगे की रणनीति बनाएंगे.किसान नेता आज सिंघु बॉर्डर पर बैठक करेंगे.झड़प होने के बाद रैली से काफी कुछ निकल कर आ रही है.उन सब बातों पर भी विचार करेंगे किसान नेताओं की मीटिंग सुबह 10 बजे शुरू हो चुकी है.

किसान मजदूर संघर्ष समिति के सतनाम सिंह पन्नू ने कहा कि हमने पहले ही ऐलान किया था कि हम आउटर रिंग रोड पर जाएंगे .संयुक्त किसान मोर्चे ने भी पहले यही ऐलान किया था .किसान नेताओं ने साफ़ कहा की – लाल क़िले पर जाने के हम ज़िम्मेदार नहीं . लाल क़िले पर दीप सिद्धू गया . लाल किले पर जो हुआ उसका ज़िम्मेदार दीप सिद्धू है. दीप सिद्धू को पुलिस ने क्यों नहीं रोका लाल किले पर . दीप सिद्धू सरकार का आदमी है . हम आउटर रिंग रोड से वापस आ गए थे . पुलिस का जांच में सहयोग करेंगे . संयुक्त किसान मोर्चे से बात करूंगा . लाल किले पर जो हुआ उसका ज़िम्मेदार मैं नहीं हूं.

सूत्रों के हवाले से ये खबर निकल कर आ रही की अब 22 केस दर्ज़ हो चुके है.किसान परेड के दौरान हिंसा, सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने और लालकिला की प्राचीर पर प्रदर्शकारियों द्वारा दूसरा झंडा फ़हराने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के वकील विनीत जिंदल ने मुख्य न्यायाधीश जस्टिस बोबड़े को पत्र लिखकर स्वत: संज्ञान लेने की मांग की है.

पत्र में मांग की गई है कि दूसरा झंडा फ़हराने, सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुँचाने वाले प्रदर्शकारियों पर करवाई की जाए.