पाकिस्तान से विस्थापित हाेकर 6 साल पहले जाेधपुर के देचू स्थित लोड़ता अचलावतां गांव आए परिवार के 12 में से 11 लाेगाें की संदिग्ध मौत से हर कोई हैरान है। प्रारंभिक जांच में यही सामने आया है कि पुलिस और केवलराम के ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर 25 साल की अविवाहित नर्स बेटी प्रिया ने दो बहनों सुमन (22) और लक्ष्मी (40) के साथ मिलकर पूरे परिवार के साथ खुदकुशी की प्लानिंग की थी। प्रिया ने पहले परिवार के 10 लोगों को जहर का इंजेक्शन दिया और बाद में खुद भी जान दे दी। भाई केवलराम को उसने नींद की गोलियां देकर खेत में रखवाली करने भेज दिया था।

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में जिक्र है कि प्रिया पर केवलराम के मूक-बधिर साले के साथ जबरन शादी करने का दबाव बनाया जा रहा था। दोनों भाइयों केवलराम और रवि का भी अपनी-अपनी पत्नियों से विवाद था। दोनों पर पत्नियों ने घरेलू हिंसा सहित कई केस भी दर्ज करा रखे थे। कई परिवाद देने के बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही थी। इसी सबसे परिवार परेशान था।

सुसाइड नोट : भाई केवलराम डरपोक है, इसलिए उसे नींद की गोलियां दे दी, हमारी भाभियां और उसके मायके वाले पाक की किसी गलत कंपनी से मिले हैं

सुसाइड नोट में बदा और भाई बागसिंह नाम के दो लोगों का जिक्र है। दोनों से पुलिस पूछताछ कर रही है। इसमें लिखा है- बदा और बागसिंह जी, 30/07/2020 को मंडोर पुलिस ने मुझे कुछ गलत इंजेक्शन दिया था। पाक से हम बचने के लिए भारत आए थे, जगह-जगह जिंदगी बचाने के लिए छुपे। बागसिंह जी हम आपसे नहीं मिले।

पुलिस और वे लोग बहुत खतरनाक हैं। हमें नहीं छोड़ते, बदा हमें क्षमा कर दीजिएगा। हमारी भाभियां और उसके मायके वाले पाक की किसी गलत कंपनी से मिले हुए हैं। ‘बागसिंह जी… हमारा भाई केवलराम डरपोक है, जब हमने ये योजना बनाई थी, तब भाई को पता नहीं था। इसलिए उसे नींद की गोलियां दे दी।.भाई का साथ देना।

पोस्टमार्टम : कीटनाश से ब्लॉक हो गई थी नसें
पोस्टमार्टम के दौरान कीटनाशक के कारण शरीर की नसें ब्लॉक मिली। 5 लोगों रवि, दयाल, लक्ष्मी, नैन व सुमन के बाएं जबकि बुद्धाराम, दीया, मुकदश, अंतरादेवी व दानिश के दाहिने हाथ में इंजेक्शन के निशान हैं। प्रिया ने अपने पैर में इंजेक्शन लगाया।

चूंकि प्रिया नर्स थी, उसे पता था कि उसके हाथ में नस आसानी से नहीं मिलती है, ऐसे में उसने पहले से अपने पांव में कैनुला लगा रखा था। खुद के इंजेक्शन भी वहीं लगाया।

बड़ा सवाल : क्या पूरे परिवार की सहमति थी?
बड़ा सवाल यह है कि प्रिया ने पूरे परिवार के साथ दूसरी बहन मलका के दो बच्चों को भी क्यों मारा? क्या घटना में पूरे परिवार की सहमति थी?