खराब लाइफस्टाइल की वजह से शरीर कई ऐसी बीमारियों की चपेट पे आ जाता है कि कई बार तो नाम सुनकर ही सिर चकरा जाता है। आपने यूरिक एसिड का नाम तो सुना ही होगा। आजकल ज्यादातर लोग बढ़े यूरिक एसिड की वजह से परेशान हैं। जब शरीर में मौजूद यूरिक एसिड यूरिन के जरिए शरीर से बाहर नहीं निकल पाता तो शरीर में यूरिक एसिड की अधिकता होने की वजह से कई दिक्कतें होने लगती हैं।

यूरिक एसिड के बढ़ने से शरीर की मांसपेशियों में सूजन आ जाती है। इसके साथ ही शरीर के कई हिस्सों में दर्द भी होता है। ये दर्द शरीर के कई हिस्सों में होता है। इस समस्या के ज्यादा बढ़ने पर लोग गठिया के अलावा कई और बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। अगर आप भी यूरिक एसिड की समस्या से परेशान हैं तो कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर इसे कंट्रोल किया जा सकता है। जानें क्या हैं ये घरेलू नुस्खे और इन्हें कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

अजवाइन का पानी असरदार

अजवाइन में कई ऐसे गुण होते हैं जो बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल कर सकते हैं। इसके सेवन के लिए बस आप एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवाइन को रातभर के लिए भिगो दें। सुबह उठकर इसे खाली पेट पी लें। ऐसा रोजाना करने से महज हफ्तेभर में आपको फर्क दिखने लगेगा।

अदरक भी कारगर
अदरक भी यूरिक एसिड को नियंत्रित करने का काम करती है। इसके लिए बस आप अदरक का इस्तेमाल करिए। अदरक को आप चाहे तो काढ़ा के रूप में या फिर चाय में डालकर पीएं। इसके साथ ही अदरक के तेल से मालिश करने से पर सूजन और दर्द से राहत मिलती है।

लहसुन
बढ़े हुए यूरिक एसिड में लहसुन भी कारगर है। इसके लिए बस आप लहसुन की दो से तीन कलियों को रोजाना खाएं। ये ना केवल यूरिक एसिड से होने वाली बीमारियों से बचाएगा बल्कि यूरिक एसिड को कंट्रोल भी करेगा।

अलसी के बीज
यूरिक एसिड की समस्या में अलसी के बीज भी कारगर उपाय है। इसके लिए बस आप रोजाना सुबह खाली पेट अलसी के बीज को चबा चबाकर खाएं। ऐसा करने से यूरिक एसिड जल्द ही कंट्रोल हो जाएगा।

नींबू गुनगुने पानी में
अलसी की बीज को खाने के करीब एक घंटा बाद गुनगुने पानी में नींबू का रस डालकर पीएं। इससे यूरिक एसिड जल्द ही कंट्रोल होगा।