बॉलीवुड फिल्मों में हर रिश्ते के साथ भाई बहन के रिश्ते को भी अहमियत दी गई है। सालों से भाई बहन पर आधारित फिल्मों ने दर्शकों को इस रिश्ते को समझने में मदद दी है। बॉलीवुड भी इस तरह की फिल्मों से अछूता नहीं रहा है। आइए रक्षाबंधन के इस खास मौके पर देखते जानते हैं ऐसी ही कुछ फिल्मों के बारे में..
हम साथ साथ हैं- 1999
सूरज बड़जात्या की इस फिल्म को आईकॉनिक माना जाता है। इसे आज भी लोग परिवार समेत देखना पसंद करते हैं। फिल्म में रक्षाबंधन सीन को भी काफी इमोशनल तरीके से दिखाया गया है, जहां नीलम, सलमान खान, सैफ अली खान और मोहनीश बहल की कलाई पर राखी बांधती हैं।
सनम बेवफा- 1991
इस फिल्म में दिखाए गए रक्षाबंधन सीन की खासियत यह है कि इसमें एक मुस्लिम लड़की अपनी दोस्त के पांच राजपूत भाइयों को राखी बांधती है। हिन्दू-मुस्लिम के प्यार भरे रिश्ते को इस फिल्म में बखूबी दिखाया गया है। फिल्म के क्लाइमेक्स में वही राजपूत भाई अपनी मुस्लिम बहन कि मदद के लिए आगे आते हैं।
रेशम की डोरी- 1974
आत्मा राम के निर्देशन में बनी इस फिल्म में भाई-बहन के प्यार को बखूबी दिखाया गया। धर्मेद्र और उनकी बहन के प्यार ने दर्शकों की आंखों में आंसू ला दिए और फिल्म का गाना ‘बहना ने भाई की कलाई से प्यार बांधा है..’ आज भी बड़ी शिद्दत से सुना जाता है। इसमें सायरा बानो ने भी अहम रोल निभाया।
धर्मात्मा- 1975
इस फिल्म का वह सीन कोई कैसे भूल सकता है जब फिरोज खान के किरदार को पता चलता है कि उनकी बहन का पति ही उनके पिता का कातिल है ताे वे गुस्से से आग बबूला हाे जाते हैं। ऐसे में उनकी बहन (फरीदा जलाल) फिराेज की कलाई पर राखी बांधते हुए अपने पति को माफ करने की दुहाई देती हैं।
हरे रामा हरे कृष्णा- 1971
इस फिल्म में एक लड़का अपनी बहन को ढूंढ़ता है और उसे खोज कर अपने परिवार में वापस शामिल करता है। फिल्म भाई-बहन की एक इमोशनल स्टोरी बयां करती है। इसमें मुख्य भूमिका में देव आनंद और जीनत अमान थे। फिल्म का गाना ‘फूलों का तारों का…’ आज भी हिट है।
छोटी बहन- 1959
बहन-भाई के प्यार पर बनी लोकप्रिय फिल्मों से एक ‘छोटी बहन’ की चर्चा आज भी होती है। साल 1959 में बनी इस फिल्म का गाना ‘भैया मेरे राखी के बंधन को निभाना…’ आज भी फेमस है। इस फिल्म में बलराज साहनी, नंदा, महमूद और रहमान ने मुख्य भूमिका निभाई थी।