भारत और ऑस्ट्रेलिया के बिच तीसरे टेस्ट ड्रा पर खत्म हुआ। ये टेस्ट पांचवे दिन जाकर अंतिम ओवर तक गया और मैच ड्रा पर खत्म किया गया। ये विवादों से भरा रहा ये टेस्ट। ड्रा में भी भारत की जित मानी जा रही। जित इसलिए क्योंकि टेस्ट शुरू होने से भारत के कई महत्वपुर्ण खिलाडी covid – प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण टीम से बाहर हो गए थे।

ऑस्ट्रेलिया के 407 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा (52) ने बेहतरीन शुरुआत दी और इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा ने भारत की जीत की उम्मीदें जगा दी। पुजारा और ऋषभ पंत ने मिलकर 148 रनों की पार्टनरशिप की थी, लेकिन ऋषभ पंत महज तीन रन से अपने तीसरे टेस्ट शतक से चूक गए, जबकि पुजारा 77 रन बनाकर हेजलवुड की गेंद पर बोल्ड हो गए।

उसके बाद आश्विन और हनुमा विहारी ने मोर्चा संभाला और टीम को ड्रा तक सफर दोनों ने मिलकर तय किया। ऐसा लगा रहा था मानो दोनों बल्लेबाज़ ऑस्ट्रेलिआई गेंदबाज़ो के सामने दिवार बन खड़ा हो गए हो। बता दें ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 407 रनो का टारगेट दिया था। जवाब में भारत ने अंतिम दिन पांच विकेट गवां 334 रन बना चुकी थी।

अब चार टेस्ट मैचों की शृंखला में दोनों टीमें एक – एक मैच जित अभी भी बराबरी पर है। अब सीरीज का आखिरी मैच ब्रिस्बेन में खेला जायेगा। इस लिहाज़ से अगला मैच काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा। अगर भारत ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट जीत लेता है, तो वह ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दूसरी बार टेस्ट सीरीज जीत लेगा।