अपने पॉलिसी विवाद से जूझ रही वॉट्सऐप फिलहाल बैकफुट पर है. कंपनी की नई पॉलिसी अब 15 मई से लागू होगी. पहले ये 8 फरवरी से लागू करने वाली थी. यानी कंपनी ने पॉलिसी वापस नहीं ली है. सिर्फ उसकी तारीख को आगे बढ़ाया है.

कंपनी ने अपने ब्लॉग पर लिखा कि हमें कई लोगों से फीडबैक मिला है कि हमारी प्राइवेसी पॉलिसी की अपडेट पूरी तरह स्पष्ट नहीं हैं. ऐसे में इसे समझने के लिए यूजर्स को टाइम दे रहे हैं. पॉलिसी की तारीख बढ़ने से आपके अकाउंट पर क्या असर होगा? सवाल-जवाब के जरिए समझते हैं.

1 आखिर व्हाट्सप्प का नया फैसला क्या है.

आपको बता दे की कंपनी ने अपने ब्लॉग पर लिखा, “हम इस बात का ध्यान रखना चाहते हैं कि इन शर्तों को पढ़ने और स्वीकार करने के लिए आपको पूरा समय मिले. इसलिए हमने तारीख आगे बढ़ा दी है. इसका मतलब है कि 8 फरवरी को किसी भी अकाउंट को सस्पेंड या डिलीट नहीं किया जाएगा. वॉट्सऐप की प्राइवेसी और सुरक्षा को लेकर जो गलत जानकारी फैल रही है, उसे दूर करने के लिए हम और भी कई कदम उठाएंगे. इसके बाद हम लोगों से पॉलिसी रिव्यू करने के लिए कहेंगे और उन्हें इसके लिए पूरा समय भी देंगे. बिजनेस ऑप्शन्स 15 मई से उपलब्ध होंगे.

2 की पॉलिसी की तारीख बढ़ने से यूजर्स को क्या फायदा होगा.

कई यूजर्स कंपनी की नई पॉलिसी एग्री नहीं कर रहे थे. ऐसे में उनके अकाउंट पर 8 फरवरी को बंद होने का खतरा था. अब वो खतरा टल चुका है. यानी पॉलिसी को एग्री किए बिना भी वॉट्सऐप अकाउंट 14 मई तक तो चलेगा ही. यूजर्स को फिलहाल कंपनी के साथ अपने डेटा को शेयर करने की परमिशन देने की जरूरत नहीं होगी.

3 यूजर्स पॉलिसी एग्री कर चुके उनका क्या होगा.

ऐसे यूजर्स पर भी नई पॉलिसी 15 मई से लागू होगी. कंपनी की ओर से बढ़ाई गई तारीख सभी यूजर्स पर लागू है. यानी जो पॉलिसी एग्री कर चुके हैं और जो एग्री करेंगे. 15 मई से पहले आपके अकाउंट का डेटा कंपनी फेसबुक, इंस्टाग्राम के साथ शेयर नहीं कर पाएगी. न ही डेटा बिजनेस यूजर्स के साथ शेयर किया जाएगा. यूजर का जो डेटा शेयर किया जाएगा उसमें लोकेशन, IP एड्रेस, टाइम जोन, फोन मॉडल, ऑपरेटिंग सिस्टम, बैटरी लेवल, सिग्नल स्ट्रेन्थ, ब्राउजर, मोबाइल नेटवर्क, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर, लेंग्वेज, टाइम जोन और फोन का IMEI नंबर शामिल है.

4 वॉट्सऐप को अनइंस्टॉल करके इन्स्टॉल किया जाए, तो पॉलिसी फिर से एग्री करना होगी.

नहीं, यदि आपने पॉलिसी को एग्री कर लिया है तब इसका नोटिफिकेशन आपके पास फिर से नहीं आएगा। इसका मतलब ये है कि आपने कंपनी को डेटा शेयर करने का राइट दे दिया है। यदि आप वॉट्सऐप को किसी दूसरे नंबर पर इन्स्टॉल करते हैं तब पॉलिसी एग्री करनी होगी.

5 यदि वॉट्सऐप को अनइंस्टॉल किया जाए तब क्या डेटा कंपनी के पास नहीं रहेगा.

जब पहली बार वॉट्सऐप को इंस्टॉल किया जाता है तब इसे कुछ परमिशन देनी होती हैं. यानी फोटो, वीडियो, कैमरा, कॉन्टैक्ट, माइक्रोफोन, लोकेशन जैसे फीचर्स तभी काम करेंगे, जब इनकी परमीशन दी जाए. ये परमिशन देते ही आपके नंबर से जुड़ा डेटा कंपनी के सर्वर में सेव हो जाता है. ऐसे में ऐप को अनइंस्टॉल करने के बाद भी आपका डेटा कंपनी के पास रहेगा.