महागठबंधन से मुख्‍यमंत्री पद के दावेदार तेजस्‍वी यादव का वर्तमान उनके अतीत के जितने ही दिलचस्‍प है। 2020 के विधानसभा चुनाव में जनता उन्‍हें कितना पसंद करेगी ये तो 10 नवंबर को मतगणना के बाद ही पता चलेगा लेकिन लड़कियों में उनका कितना क्रेज है इसका अंदाजा 2016 की एक घटना से लगाया जा सकता है।
बिहार में पुरानी मीडिया रिपोर्ट्स से पता चलता है कि 2016 में तेजस्‍वी नीतीश सरकार में उप मुख्‍यमंत्री के साथ सड़क न‍िर्माण मंत्री थे। 2016 में ही अक्‍टूबर के महीने में उन्‍होंने सड़क न‍िर्माण संबंधी शिकायतों के लिए जनता से सीधा संवाद करना चाहा. इसके लिए उन्‍होंने अपना एक व्‍हाट्सअप नंबर सार्वजन‍िक कर दिया था. लेकिन वो ये देख कर हैरान हो गए कि शिकायतों से ज्‍यादा लड़कियों के प्रपोजल आने शुरू हो गए। आरजेडी के नेताओं की मानें तो उन्‍हें 42 हजार से ज्‍यादा विवाद के प्रस्‍ताव मिले थे।
तेजस्‍वी पहले क्रिकेट में अपना करियर तलाश रहे थे। लेकिन बिहार के बाहर के लोगों को इस बात की जानकारी कम है कि तेजस्‍वी एक वक्‍त आईपीएल के प्‍लेयर भी थे। वह 2008 से 2012 तक दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की टीम के सदस्‍य थे लेकिन उन्‍हें कभी भी ग्राउंड पर उतरने का चांस नहीं मिला। वह हमेशा पवेलियन में रहे. हालांकि इससे पहले वह झारखंड की स्‍टेट क्रिकेट टीम के सदस्‍य के तौर पर रणजी ट्रॉफी खेल चुके थे।