बिहार के विपक्ष पार्टी RJD के नेता तेजस्वी यादव सहित 500 से ज़्यादा लोगो पर किसानो के लिए कृषि कानून का विरोध करने पर केस दर्ज किया गया है। इन पर बिना प्रशासन की इजाज़त के गांधी मैदान के पास सभा करने का आरोप हैं , महामारी एक्ट और आईपीसी की कई धाराओं तहत मुकदमा दर्ज किया है। जिन पर केस दर्ज हुआ उसमे तेजस्वी यादव के अलावा RJD के 18 नेताओ के नाम दर्ज किये गए हैं। बाक़ी लोगो पर सभा में मौजूद रहकर कानून का उलंगन करने के आरोप लगाए गए हैं।

तेजस्वी यादव ने कहा की नितीश कुमार की सरकार निकम्मी, बुज़दिल और कायर है , तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा “डरपोक और बंधक मुख्यमंत्री की अगुवाई में चल रही बिहार की कायर और निक्कमी सरकार ने किसानों के पक्ष में आवाज उठाने के जुर्म में हम पर FIR दर्ज की है. दम है तो गिरफ़्तार करो,अगर नहीं करोगे तो इंतज़ार के बाद स्वयं गिरफ़्तारी दूँगा. किसानों के लिए FIR क्या अगर फाँसी भी देना है तो दे दीजिए.”

इससे पहले भी तेजस्वी यादव ने कृषि कानून के खिलाफ पटना के गाँधी मैदान में भी प्रदर्शन किया था। जिसमे उन्होंने कहा था की “तीनों नए कृषि क़ानून किसान विरोधी हैं, हमारी मांग है कि जो किसान सड़कों पर आंदोलन कर रहें हैं उनकी सभी मांगों को पूरा किया जाए. हम किसानों की मांगों के साथ हैं.”