महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में बात की. उन्होंने अभिनेत्री कंगना रनौत समेत विपक्षियों पर हमला बोला. ठाकरे ने कहा कि कंगना जैसे लोगों ने मुंबई, उसकी पुलिस और महाराष्ट्र के सभी बेटों को “बदनाम” करने की कोशिश की. यहां तक कि उनके बेटे आदित्य ठाकरे तक को नहीं छोड़ा.

शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली में बोलते हुए उद्धव ने कहा, “किसी ने आत्महत्या की है. वह बिहार का बेटा है, हो सकता है. लेकिन उसकी वजह से आपने महाराष्ट्र के बेटों को बदनाम किया. आपने मेरे बेटे आदित्य का भी अपमान किया है. इसलिए आपने जो भी कहा है, उसे खुद तक रखें. हम साफ हैं.”

बता दें कि यह पहली बार है जब मुख्यमंत्री ठाकरने ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में बात की है. मामले में अभिनेता की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती के अलावा महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे तक को को निशाने पर लिया गया था. कंगना रनौत का नाम लिए बिना उद्धव ने कहा, “न्याय की गुहार लगाने वालों” ने मुंबई पुलिस पर बेकार होने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, “मुंबई PoK (पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर) है, वहां हर जगह ड्रग एडिक्ट हैं – वे ऐसी तस्वीर पेंट कर रहे हैं.”  उन्होंने कहा, ”आरोप लगाने वालों को पता नहीं है कि हम गांजा नहीं तुलसी उगाते हैं. गांजे के खेत आपके राज्य में हैं. ” उन्होंने नाम लिए बिना कंगना रनौत पर निशाना साधा.

उन्होंने कहा, “मुझे अपनी मुंबई पुलिस पर गर्व है. जिस पुलिस ने एक आतंकवादी को जिंदा पकड़ा है, वह एकमात्र पुलिस है. ” उन्होंने 26/11 आतंकवादी अजमल कसाब को पकड़ने और ट्रायल के संदर्भ में ये बात कही.

उन्होंने कहा, “मुंबई PoK बन गया है ऐसा कहना पीएम का अपमान भी है. छह साल बाद भी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में शामिल नहीं किया जा सका ये मोदी सरकार की विफलता है.” बता दें कि ठाकरे की शिवसेना की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार पर सुशांत सिंह की मौत के बाद से कंगना रनौत समेत विपक्षी हमलावर रहे हैं.