दिल्ली यूनिवर्सिटी ने सोमवार को सभी कॉलेजों के प्रिंसिपलों के को लिखा है कि स्कैन की हुई ऑनलाइन आंसर शीट को ऑनलाइन और इलेक्ट्रिक मोड में विषय के शिक्षक ही चेक करेंगे।

इसके लिए शिक्षकों को पोर्टल का एक्सेस व्यक्तिगत तौर पर उपलब्ध कराया गया है। कॉपियों का मूल्यांकन करने के बाद शिक्षक रिस्पॉन्स और अवार्ड को भी पोर्टल पर रॉकॉर्ड कर सकेंगे, जिसके बाद रिजल्ट का कंपाइलेशन किया जाएगा।

कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय ने तात्कालिक उपाय (वन टाइम मीजर) अपनाते हुए ओपन बुक एग्जाम कराने का फैसला किया था। ओबीई परीक्षाएं डीयू के सभी कॉलेजों, एसओएल और नॉन-कॉलेजिएट वीमेन्स एजुकेशन बोर्ड (एनसीडब्ल्यूईबी) के स्नातक और परास्नातक के  छात्रों के लिए आयोजित कराई जा रही हैं। यह परीक्षा ग्रेजुएट औऱ पोस्ट ग्रेडुएट्स के लिए 10 अगस्त से 31 अगस्त के बीच आय़ोजित कराई जा रही है।

.जो छात्र दूर-दराज इलाकों से परीक्षाओं में भाग ले रहे हैं उन्हें ई-मेल या अन्य माध्यमों से आंसरस्क्रिप्ट जमा कराने का विकल्प दिया गया है। दिव्यांक छात्रों को भी प्रश्नों के जवाब ई-मेल से जमा कराने की सुविधा दी गई है। डीयू के आंकड़ों के अनुसार 15 अगस्त तक पिछले चार दिनों में संस्थागत, एसओएल और एनसीडब्ल्यूईबी के क्रमश: 110085, 154142 और 82496 छात्रों ने सफलतापूर्वक इन परीक्षाओं में भाग लिया।