नेशनल स्पोर्ट्स और एडवेंचर अवॉर्ड की प्राइज मनी बढ़ा दी गई है। खेल मंत्री किरण रिजिजू ने शनिवार को इसकी घोषणा की। अब से राजीव गांधी खेल रत्न पाने वाले खिलाड़ी को 7.5 लाख की बजाय 25 लाख रुपए मिलेंगे। इसमें 300 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी की गई है।

वहीं, अर्जुन अवॉर्ड की प्राइज मनी भी 5 से बढ़ाकर 15 लाख रुपए कर दी गई। प्राइज मनी में किया गया इजाफा इसी साल से लागू होगा। सात में से चार कैटेगरी में प्राइज मनी बढ़ाई गई है।

द्रोणाचार्य अवॉर्ड पाने वाले को 15 लाख रुपए मिलेंगे

लाइफटाइम कैटेगरी में द्रोणाचार्य अवॉर्ड पाने वाले कोच को अब पांच लाख की बजाय 15 लाख रुपए मिलेंगे। इसके अलावा रेगुलर कैटेगरी में यह सम्मान पाने वालों को प्राइज मनी दोगुनी कर दी गई है। पहले यह सम्मान पाने वालों को 5 लाख मिलते थे, अब 10 लाख रुपए मिलेंगे। ध्यानचंद अवॉर्ड की प्राइज मनी भी 5 से बढ़ाकर 10 लाख कर दी गई है।

जब प्रोफेशनल की कमाई बढ़ी, तो खिलाड़ियों की भी बढ़नी चाहिए: खेल मंत्री

इस मौके पर खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि पिछली बार 2008 में नेशनल स्पोर्ट्स अवॉर्ड की प्राइज मनी की समीक्षा की की गई थी। मेरी राय में हर 10 साल में प्राइज मनी का रिव्यू करना चाहिए। हर फील्ड में प्रोफेशनल्स की कमाई बढ़ी है, तो फिर हमारे खिलाड़ियों क्यों पीछे रहें।

पहली बार 5 खिलाड़ियों को खेल रत्न

इस साल पहली बार पांच खिलाड़ियों को खेल रत्न दिया गया। इसमें रोहित शर्मा(क्रिकेटर), विनेश फोगाट(रेसलिंग), रानी रामपाल(हॉकी), मनिका बत्रा( टेबल टेनिस) और रियो ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले पैरा एथलीट मरियप्पन थंगावेलु शामिल हैं। विनेश फोगाट और रोहित शर्मा वर्चुअल अवॉर्ड सेरेमनी में शामिल नहीं हुए। विनेश की एक दिन पहले ही कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जबकि रोहित शर्मा आईपीएल के लिए यूएई में हैं।

27 प्लेयर्स को अर्जुन अवॉर्ड मिला
इस बार क्रिकेटर इशांत शर्मा, स्प्रिंटर दुती चंद समेत 27 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड दिए गए। इसके अलावा 13 कोच को द्रोणाचार्य अवॉर्ड और 15 को ध्यानचंद पुरस्कार दिया गया।