इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल शुरू होने में कुछ ही दिन बचे हैं. वहीं दूसरी तरफ कोरोना के बढ़ते मामलों ने पूरे देश को परेशान कर रखा है. देश में सामने आ रहे कुल नए मामलों में आधे से ज्यादा मामले अकेले महाराष्ट्र से आए हैं. ऐसे में मुंबई में होने वाले आईपीएल के मैचों को लेकर चिंता खड़ी हो गई है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने सोमवार से सप्ताहांत लॉकडाउन का फैसला लिया गया है.

वहीं, बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने साफ कर दिया है कि आईपीएल के तय कार्यक्रम में किसी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिलेगा. गांगुली ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, ‘लॉकडाउन से हमें कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि हमने वहां मैच का आयोजन करने के लिए राज्य सरकार से अनुमति ले ली है.

मुंबई के वाखेड़े स्टेडियम पर आईपीएल के 10 मुकाबले खेले जाने हैं और ये सभी मुकाबले 10 से 25 अप्रैल के बीच बायो बबल के अंदर खेले जाएंगे. पहला मैच दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेला जाएगा. बता दें, चेन्नई सुपरकिंग्स, दिल्ली कैपिटल्स, पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की टीम यहां पर बायो बबल में अभ्यास कर रही हैं.

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला का कहना है कि भारतीय बोर्ड आईपीएल से जुड़े सभी खिलाड़ियों के टीकाकरण पर भी विचार कर रही है और इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्रालय के संपर्क में है. जल्द ही इस पर कोई फैसला ले लिया जाएगा. सभी खिलाड़ी आईपीएल शुरू होने का बेताबी से इंतजार कर रहे हैं.

9 अप्रैल से आईपीएल सीजन 14 का आगाज चेन्नई में होगा. पहले मुकाबले में पूर्व चैंम्पियन मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम आमने-सामने होगी. दोनों के बीच रोमाचंक मुकाबला देखने की उम्मीद की जा रही है.

आरसीबी के देवदत्त पडिक्कल, केकेआर के नीतीश राणा (कोरोना संक्रमण से उबर चुके हैं) और दिल्ली कैपिटल्स के अक्षर पटेल संक्रमित हो गए. ऐसे आईपीएल फ्रेंचाइजी और बीसीसीआई के सामने बड़ी चुनौती है कि वो अपने खिलाड़ियों को संक्रमण से कैसे बचाएं.