नई दिल्ली,  कोरोना संक्रमण के कारण जीडीपी की निराशा भरी खबरों के बाद ऑटोमोबाइल्स सेक्टर इकोनॉमी के लिए राहत की बड़ी खबर लेकर आया है। अगस्त महीने में घरेलू स्तर पर वाहनों की बिक्री कोरोना पूर्व काल के स्तर को पार करते हुए 20 फीसद तक की उछाल दर्ज कर ली। ऑटोमोबाइल्स की बिक्री में आई इस तेजी से इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत मिलने लगे हैं। देश के जीडीपी में ऑटो सेक्टर का योगदान 7.5 फीसद का है। लगभग 5 लाख करोड़ के कारोबार वाले ऑटोमोबाइल्स सेक्टर में लगभग 3.7 करोड़ लोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से काम करते हैं।

कारों की बिक्री में देश में 50 फीसद से अधिक की हिस्सेदारी रखने वाली मारुति सुजुकी ने अगस्त महीने में अपनी घरेलू बिक्री में 21.7 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की। कारों की बिक्री में 16 फीसद से अधिक की हिस्सेदारी रखने वाली हुंडई मोटर की अगस्त महीने की घरेलू बिक्री में 19.9 फीसद का इजाफा रहा। देश में सबसे अधिक दोपहिया वाहनों की बिक्री करने वाली कंपनी हीरो मोटोकार्प ने भी अगस्त महीने में अपनी बिक्री में 7.55 फीसद का इजाफा दर्ज किया।

हुंडई मोटर ने इस साल अगस्त में 45,809 यूनिट की बिक्री की। पिछले साल अगस्त में कंपनी ने 38,205 यूनिट की बिक्री की थी। हीरो मोटोकार्प ने मोटरसाइकिल और स्कूटर को मिलाकर घरेलू स्तर पर अगस्त महीने में 568674 यूनिट की बिक्री की। पिछले साल अगस्त में कंपनी ने 543406 यूनिट की बिक्री की थी। चीन से ताल्लुक रखने वाली कंपनी एमजी मोटर ने तो अगस्त महीने में अपनी बिक्री में पिछले साल अगस्त के मुकाबले 41 फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की।