नई दिल्ली, एएनआइ। लोधी स्टेट स्थित एक मंत्री की कोठी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (Central Reserve Police Force) के एक सब इंस्पेक्टर ने शुक्रवार देर रात पहले इंस्पेक्टर को गोली मार दी फिर खुद भी गोली मार ली। दोनों को उपचार के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया , जहां दोनों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। डीसीपी नई दिल्ली जिला ईश सिंघल के मुताबिक मरने वाले सीआइएसएफ कर्मियों के नाम करनैल सिंह और दशरथ है। करनैल इंस्पेक्टर और दशरथ सब इंस्पेक्टर थे। दोनों 61 लोधी स्टेट स्थित किसी मंत्री की कोठी में रहते थे।

यह कोठी गृह मंत्रालय के नाम अलॉट है। किस मंत्री के नाम कोठी अलॉट है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। मंत्री की सुरक्षा में कई सीआईएसएफ की तैनाती है। उनके रहने के लिए कोठी के एक हिस्से में कमरे दिए गए है, जहां वे लोग रहते है। कल देर रात खाना खाने के दौरान किसी बात को लेकर सब इंस्पेक्टर दशरथ का इंस्पेक्टर करनैल सिंह से झगड़ा हो गया। गुस्से में आकर दशरथ ने करनैल पर पिस्टल से गोली चला दी। गोली मारने के बाद कोठी के गेट पर आकर उसने खुद के सिर में भी गोली मार ली। उनके साथी सीआईएसएफ कर्मियों ने रात करीब 11 बजे पुलिस को सूचना दी।

तुगलक रोड थाना पुलिस ने दोनों को उपचार के लिए आरएमएल में भर्ती करा दिया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें तुरंत मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है थाना पुलिस के कोठी पर पहुंचने से पहले ही दोनों को अत्यधिक खून बह जाने से मौत हो गई थी। कमरे में टिफिन में खाना रखा हुआ था। दोनों में किस बात को लेकर झगड़ा हुआ? इसका पता नहीं लग सका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। देर रात ही घटना की सूचना दिल्ली पुलिस ने सीआइएसएफ के ऑफिसर को दे दी थी। यह भी जानकारी मिली है एसआइ करनैल सिंह जम्मू-कश्मीर के उधमपुर का रहने वाला था, जबकि दशरथ हरियाणा के रोहतक का निवासी था।