ओशो संग उनकी बॉन्डिंग, उनकी कंट्रोवर्सी और तमाम चीजें एक रहस्य की तरह रही हैं. अब इन सबका जवाब जल्द ही मिलने वाला है. मां आनंद शीला पर एक डॉक्युमेंट्री बनी है जिसपर उनके जीवन के बारे में बताया जाएगा. करण जौहर ने सोशल मीडिया पर इसका ट्रेलर भी शेयर कर दिया है.

मां आनंद शीला ओशो की सबसे करीबी मानी जाती रही हैं मगर दोनों के बीच की कंट्रोवर्सी भी किसी से छिपी नहीं है. पिछले काफी समय से गुमनामी के अंधेरे में रहने के बाद मां आनंद शीला 34 साल बाद भारत वापस आई हैं. उनसे जुड़े तमाम ऐसे सवाल हैं जो लोग जानना चाहते हैं. ओशो संग उनकी बॉन्डिंग, उनकी कंट्रोवर्सी और तमाम चीजें एक रहस्य की तरह रही हैं. अब इन सबका जवाब जल्द ही मिलने वाला है. मां आनंद शीला पर एक डॉक्युमेंट्री बनी है जिसपर उनके जीवन के बारे में बताया जाएगा. करण जौहर ने सोशल मीडिया पर इसका ट्रेलर भी शेयर कर दिया है.

करण जौहर ने इंस्टाग्राम पर इसका ट्रेलर शेयर करते हुए लिखा- आपने उन्हें देखा है, आपने उन्हें सुना है, आपने उनके बारे में जरूर सुना होगा. अब वो अपनी कहानी सुनाने के लिए खुद आ गई हैं. #SearchingforSheela 22 अप्रैल को रिलीज हो रही है. नेटफ्लिक्स की इस डॉक्युमेंट्री में रजनीश की पूर्व स्पोक्सपर्सन की कहानी के बारे में विस्तार से बताया गया है. इसे धर्मा प्रोडक्शन ने प्रोड्यूस किया है.

कौन हैं मां आनंद शीला?

मां आनंद शीला भगवान श्री रजनीश की सबसे करीबी सहयोगी थीं. वो ओशो की सबसे बड़ी फॉलोअर थीं. वे ओशो के ओरेगन स्थित आश्रम रजनीशपुरम को मैनज करती थीं. उनपर साल 1986 में आश्रम के अंदर डिस्टरबेंस फैलाने और मर्डर तक का आरोप लगा था. साल 1984 में रजनीशपुरम के अंदर हुए बायो-टेरर अटैक कराने का भी आरोप लगा था. उन्हें 20 साल की सजा हुई थी मगर उन्होंने सिर्फ 39 महीने जेल में बिताए थे. साल 2019 में वे लंबे वक्त बाद एक इंटरव्यू के लिए भारत आई थीं. बता दें कि साल 2018 में नेटफ्लिक्स की डॉक्युमेंट्री वाइल्ड वाइल्ड कंट्री रिलीज हुई थी जिसमें मां आनंद शीला के बारे में विस्तार से बताया गया था.