असम के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने कहा है कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की अपनी तरह की पहल के तहत स्कूल जाने वाली प्रत्येक बालिका को कक्षाओं में शामिल होने के लिए प्रतिदिन 100 रुपये मिलेंगे. सरमा ने रविवार को शिवसागर में कहा कि वर्तमान में राज्य सरकार राज्य बोर्ड से कक्षा 12वीं प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण करने वाली छात्राओं को प्रज्ञान भारती योजना (Pragyan Bharti Scheme) के तहत 22,000 दोपहिया वाहन यानी स्कूटर दिए जाएंगे

राज्य सरकार इस उद्देश्य के लिए 144.30 करोड़ रुपये खर्च करेगी. मंत्री ने कहा कि वर्तमान महीने के अंत तक 100 रुपये प्रतिदिन की योजना शुरू की जाएगी. हालांकि उन्होंने इसके क्रियान्वन पर सरकार पर पड़ने वाले वित्तीय प्रभावों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उन सभी छात्राओं को स्कूटर मुहैया कराएगी, जो राज्य बोर्ड से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई हैं, भले ही यह संख्या एक लाख के पार हो जाए

उन्होंने कहा कि 2018 और 2019 में प्रथम श्रेणी में कक्षा 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली सभी छात्राओं को भी स्कूटर प्रदान किए जाएंगे. मंत्री ने कहा कि स्नातक और स्नातकोत्तर छात्राओं के बैंक खातों में जनवरी के अंत तक 1,500 रुपये और 2,000 रुपये की राशि जमा की जाएगी, जिससे उन्हें किताब और अन्य अध्ययन सामग्री खरीदने में मदद मिल सके. मंत्री ने आगे कहा कि दोनों वित्तीय प्रोत्साहत योजना पहले पिछले साल ही शुरू की जानी थी लेकिन कोविड-19 के प्रसार के कारण इसमें देरी हुई।