बॉलीवुड अभिनेता Sushant Singh Rajput के केस में काफी बारीकियों से जांच की जा रही है. सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में आए दिन रोज नए-नए खुलासे भी हो रहे हैं. सभी से पूछताछ भी की जा रही है. हमने आपको बताया कि सुशांत सिंह राजपूत के केस में तीन प्रमुख एजेंसी सीबीआई, ईडी और एनसीबी काम कर रही हैं. सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या के डेढ़ महीने बाद फॉरेंसिक रिपोर्ट मिली.

सुशांत की पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद कई सवाल उठ रहे हैं. सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट एम्स की की वजह से वहां के डॉक्टरों को फॉरेंसिक टीम ने भी घेरे में ले लिया गया है और इस पर काफी सवाल भी उठाए गए हैं. फॉरेंसिक टीम ने पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों से कई सवाल किए थे, जिसमें उन्होंने पूछा था कि सुशांत के गले के निशान के बारे में उनकी क्या राय है.

हम आपको यह बता दें कि सुशांत की आत्महत्या के बाद जो भी निशान सुशांत की गर्दन पर पाया गया वह सीधा और साफ बना हुआ था. इसी शक के चलते सुशांत सिंह के आत्महत्या मामले में कहा जा रहा है कि ” जब भी कोई आत्महत्या करता है तो गले में फंदा लग जाने के कारण ऊपर की तरफ यू शेप का निशान होता है, लेकिन जब सुशांत के गले पर निशान पाया गया तो उसमें यू नहीं बल्कि O शेप का निशान बना हुआ था”. इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि आत्महत्या केस में जख्म भी आ जाते हैं और सुशांत सिंह राजपूत के गले पर सिर्फ एक सीधी रेखा बनी हुई थी, गले पर कोई भी जख्म या खरोच नहीं थी.

इसी तरह के कई सवालों के जवाब के चलते फॉरेंसिक के डॉक्टर टी मिल्लव, डॉक्टर आदर्श कुमार और डॉ अभिषेक यादव ने पोस्टमार्टम करने वाले सभी डॉक्टरों से बातचीत की है. फॉरेंसिक टीम ने डॉक्टरों से पूछताछ में कहा कि जिस तरह से सभी सुशांत की हत्या होने का दावा कर रहे हैं, तो आप लोग इसको कैसे जस्टिफाई करेंगे.

सुशांत सिंह राजपूत ने एक कुर्ते से अगर आत्महत्या की है तो उससे एक साफ निशान कुर्ते में कैसे आ गया?. इन सवालों से यह साफ होता है कि फॉरेंसिक टीम को सुशांत की हत्या करवाए जाने का शक है.