कृषि कानून के खिलाफ चल रहा आंदोलन दिन पर दिन बड़ता जा रहा है। किसान और सरकार के बीच बातचीत में अभी तक कोई समाधान निकलता नहीं दिख रहा है। हालांकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और किसानों के बीच हुई बैठक के बाद चिल्ला बॉर्ड़र को ट्रैफिक के लिए खोल दिया गया है। किसानो का आंदोलन अब फिरसे रुख मोड़ता दिखाई दे रहा है, किसानो के नेताओ ने कहा है की 14 दिसंबर तक मांगे पूरी नहीं हुई तोह भूक हड़ताल पर बेथ जायेंगे।

किसान आज फिर बड़ा आंदोलन करने वाले है, राजस्थान से किसान आज ट्रेक्टर मार्च निकालेंगेऔर दिल्ली-जयपुर हाईवे ब्लॉक करेंगे। इसी के साथ सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन का आज 18 वा दिन है। एक प्रदर्शनकारी का कहना ये भी है की “मैं कल रात यहां पहुंचा था। राजस्थान, पंजाब और हरियाणा से अधिक किसान आ रहे हैं. 16 दिसंबर को 500 और टोलियां यहां पहुंचेंगी.”

खुफिया एजेंसी के मुताबिक पता चला है की देश विरोधी पार्टिया भी सक्रिय होती जा रही है। एजेंसी ने यह भी बताया की सिख फॉर जस्टिस का संगठन पंजाब-हरयाणा बॉर्डर पर स्थित शंभू गांव में लोगो को भड़काने का काम कर रही है। यह संगठन लोगो को खालिस्तानी झंडे लगाने को उकसा रहे हैं।