शिवसेना के नेता संजय राउत ने पत्नी को ईडी द्वारा भेजे गए नोटिस के बाद जमकर केंद्र सरकार और महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं को लताड़ा। राउत ने सोमवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह बातें कही। साथ ही उन्होंने कहा की की राजनीति में आमने-सामने की लड़ाई होनी चाहिए। परिवार को बीच में क्यों लाते हो.

साथ ही राउत ने कहा कि यह सब राजनीति से प्रेरित है।ईडी ने 10 साल पुराना केस निकाला हैं। हम मि़डी़ल क्लास के लोग है। मेरी पत्नी टीचर है। पत्नी से दोस्त से 50 लाख का कर्ज लिया था। राज्यसभा के हलफनामे में इसका जिक्र है।इनकम टैक्स में भी यह दिखाया गया है।यह छिपाई हुई बात नहीं है। इससे ईडी और बीजेपी को क्या तकलीफ है। इस देश में बीजेपी के लिए बड़े-बड़े सूरमा बैठे हैं। अगर मैं उनके परिवार तक पहुंचा तो उन्हें देश छोड़कर भागना होगा।

शिवसेना नेता ने यह भी चेताया की मुझसे पंगा मत लेना मैं नंगा आदमी हूं और शिवसैनिक हूं। मेरे पास भाजपा की फ़ाइल है, अगर उसे निकाला तो उनको देश छोड़कर भागना पड़ेगा।

आ देखें जरा, किसमें कितना है दम…

इससे पहले,पत्नी को ईडी का समन मिलने के बाद राउत ने ट्वीट करते हुए तंज किया था। उन्होंने रविवार रात किये ट्वीट में लिखा की, ”आ देखें जरा, किसमें कितना है दम। जमकर रखना कदम, मेरे साथिया…।” हालांकि, राउत ने ट्वीट में किसी का नाम तो नहीं लिखा था, लेकिन ऐसा कया्स लगाया जा रहा हैं की ईडी का पत्नी को समन मिलने के बाद यह किया गया है।

आपको बता दे की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को पीएमसी बैंक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए 29 दिसंबर को तलब किया है। वर्षा राउत को मुंबई में केंद्रीय एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है।हांलकी इससे पहले भी ईडी ने दो बार अन्य मामले में पुछताथ के लिए समन भेज चुकी हैं।