राहुल गाँधी ने कहा की ये सत्याग्रह सिर्फ किसानो के लिए नहीं है. ये सोचना गलत है, कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन करतेे हुए राहुुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि मोदी जी, सिर्फ पत्रकार और पूंजीपति मित्रों के लिए काम कर रहे हैं, सच्चाई सबके सामने है.

1 PM मोदी का नाम लेते हुए राहुल गांधी ने सीधे निशाना साधा.
2 मोदी जी, सिर्फ पत्रकार और पूंजीपति मित्रों के लिए काम कर रहे.
3 मंगलवार को किसानों के समर्थन में राहुल गांधी ने एक बुकलेट भी जारी की थी.
4 कृषि कानूनों पर राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार को घेरा.

कृषि कानूनों को लेकर किसानों का प्रदर्शन अभी तक जारी है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार किसानों के मुद्दे देशवासियों के सामने रख रहे हैं. अब उन्होंने किसानों के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि ये समझना गलत है कि ये सत्याग्रह सिर्फ़ किसानों के लिए है. इन तीन कृषि-विरोधी कानूनों का असर मध्यम वर्ग पर भी पड़ेगा जब APMC नष्ट हो जाएंगे और अनाज के दाम आसमान छुएंगे. मोदी जी सिर्फ़ अपने पत्रकार और पूंजीपति मित्रों के लिए काम कर रहे हैं. आज सच्चाई सबके सामने है.

वही आपको बता दें कि मंगलवार को राहुल गांधी ने किसानों की पीड़ा पर एक बुकलेट जारी करते हुए कहा कि कृषि देश का सबसे बड़ा उद्यम है. अब इसमें भी तीन कानूनों के जरिए एकाधिकार लाया जा रहा है. खेती-किसानी को बर्बाद किया जा रहा है. इसकी मार मध्यम वर्ग पर सबसे अधिक पड़ने जा रही है. इसकी मार युवाओं पर भी पड़ेगी. तीनों कानूनों को वापस लिए बगैर कोई समाधान नहीं आएगा. देश में चार पांच उद्योगपतियों का एकाधिकार हो रहा है.

कृषि सुधारों को लेकर कांग्रेस की पिछली कोशिशों पर उठाए जा रहे सवालों पर भी राहुल गांधी ने जवाब दिया. उन्होंने कहा कि हमने खेती को लेकर रिफॉर्म की बात की, उसको खत्म करने की बात नहीं की. कृषि कानूनों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर राहुल गांधी ने कहा कि मैं इस पर कुछ बोलना नहीं चाहता. सुप्रीम कोर्ट की रियलिटी पूरे देश ने देख ली है.