आईपीएल में नस्लीय कॉमेंट का मामला:डैरेन सैमी ने इशांत शर्मा से बात की, कहा- उनके खिलाफ कोई नाराजगी नहीं, अब भी उन्हें भाई मानता हूं

31 मिनट पहले
डैरेन सैमी (बाएं) और इशांत शर्मा 2013 में आईपीएल फ्रेंचाइजी सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते थे। तब इस टीम का नाम डेक्कन चार्जर्स था। -फाइल
  • डैरेन सेमी ने कहा- अगर मुझे दोबारा पता चलेगा कि कोई मेरे खिलाफ नस्लीय टिप्पणी कर रहा है, तो मैं दोबारा सवाल पूछूंगा
  • 4 महीने पहले सैमी ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट कर अपनी पुरानी आईपीएल टीम सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाड़ियों पर नस्लीय टिप्पणी का आरोप लगाया था

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी ने नस्लीय कॉमेंट मामले में अपनी पुरानी आईपीएल टीम सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाज इशांत शर्मा से बात की है। उन्होंने कहा कि वे इशांत से नाराज नहीं है और उन्हें अब भी भाई की तरह मानते हैं। कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) में खेल रहे सैमी ने न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में यह बातें कहीं।

सैमी ने कहा कि वे इशांत के मामले में आगे बढ़ गए हैं, लेकिन अगर कोई इस शब्द का दोबारा इस्तेमाल करता है, तो वे इस पर सवाल पूछना नहीं छोड़ेंगे। मैंने पहले भी ऐसा ही किया था। मेरे आवाज उठाने के बाद इस मामले पर क्रिकेट जगत में बातचीत शुरू हुई। मुझे इस बारे में बात करने में कोई पछतावा नहीं।

मैं भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाता रहूंगा: सैमी

सैमी नस्लवाद के खिलाफ लगातार बोलते रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि मेरी मां ने मुझे इसी सीख के साथ बड़ा किया है। आप जिन चीजों पर भरोसा करते हो, उनके खिलाफ आपको खड़ा होना चाहिए। भले ही आपके खिलाफ अन्याय किया जा रहा हो या फिर साथियों के खिलाफ। सैमी ने कहा कि सालों से हमारे रंग के आधार पर हमारे साथ नस्लीय रूप से भेदभाव किया जा रहा है।

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद रंगभेद का विवाद गरमाया

अमेरिका के मिनेपोलिस में 25 मई को एक अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। इसके बाद दुनियाभर में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए। सैमी ने भी इसके बाद क्रिकेट में रंगभेद का मुद्दा उठाया था और आईसीसी से इस पर रोक लगाने की मांग की थी।

सैमी ने 4 महीने पहले नस्लभेद के आरोप लगाए थे

  • सैमी ने 4 महीने पहले इंस्टाग्राम पर वीडियो पोस्ट कर यह आरोप लगाया था कि उन्हें आईपीएल टीम सनराइजर्स के साथी खिलाड़ी कालू कहकर पुकारते थे। इसका मतलब उन्हें हाल ही में पता चला। तब उन्होंने कहा था कि मेरे अलावा थिसारा परेरा को भी खिलाड़ी इसी नाम से पुकारते थे। मैं सोचता था कि इसका मतलब मजबूत घोड़ा होता है, लेकिन अब जाकर मुझे इसका मतलब पता चला।