कृषि क़ानून को लेकर आज धरना के 18 वा दिन है.किसान अपने आंदोलन को और तेज़ करते जा रहे है.पुलिस प्रशाशन भी अपने तरफ से काउंटर करने की भरपुर कोशिश कर रही.इसी बिच एक और सनसनी फैलाने वाली खबर सामने आयी है.अब ऐस अलग रहा है इस आंदोलन में पंजाब पुलिस कदम रख चुकी है मै ऐसा इसलिए कह रहा हु क्योंकि पंजाब पुलिस के DIG लखमिंदर सिंह जाखड़ ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

इस खबर की पुस्टि ADGP पिके सिन्हा ने की.लखमिंदर ने लिखा कि प्रदेश के किसान परेशान हैं। ठंड में खुले आसमान के नीचे सड़कों पर बैठे हैं। मैं खुद एक किसान का बेटा हूं, इसलिए इस आंदोलन का हिस्सा बनना चाहता हूं। तुरंत प्रभाव से पदमुक्त करें, ताकि दिल्ली जाकर अपने किसान भाइयों के साथ मिलकर अपने हक के लिए लड़ सकूं।

उधर किसान अपने आंदोलन को और धार देते हुए दिल्ली – जयपुर हाईवे को आज बंद कर दिया है और पूरी तरह से अपने कब्ज़े में ले लिया है.किसानो का एक सुर में कहना है की बिल वापसी से निचे कुछ भी मंज़ूर नहीं करेंगे हम .सरकार बिल वापिस करले हम शांतिपूर्वक अपने घर लौट जायेंगे.

इस बीच, किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने शनिवार को बताया था कि किसानों की पंजाब से आने वाली कई ट्रॉलियों को सरकार ने रोक लिया है। हम लोग सरकार से अपील करते हैं कि वो किसानों को दिल्ली पहुंचने दें। अगर सरकार 19 दिसंबर से पहले हमारी मांगे नहीं मानती है, तो हम गुरु तेग बहादुर के शहादत दिवस से भूख हड़ताल भी शुरू करेंगे।