• लगातार जारी विरोध के बीच 1 से 6 सितंबर को जेईई मेन और 13 सितंबर को होगा नीट 2020
  • परीक्षा स्थगित करने को लेकर 6 राज्यों के मंत्रियों ने सुप्रीट कोर्च में दायर की रिव्यू पिटीशनपरीक्षा को लेकर जारी विरोध और प्रदर्शन के बीच 1 सितंबर से जेईई मेन की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। ऐसे में बीते दिनों परीक्षा को लेकर हुए विवाद की वजह से स्टूडेंट्स काफी परेशान नजर आ रहे हैं। वहीं कोरोणा के बीच हो रही परीक्षा को लेकर भी स्टूडेंट्स काफी डरे हुए हैं। ऐसे में परीक्षा पहले पढ़ाई पर फोकस करने में काफी मुश्किल हो रही है।

    एग्जाम से पहले माइंड को फोकस और कंसंट्रेट करने के लिए रिलैक्सेशन काफी जरूरी है। एग्जाम शुरू होने से पहले कोरोनावायरस और परीक्षा को लेकर हुए एग्जाम के कारण हुए इस स्ट्रेस से बचने के लिए साइकोलॉजिस्ट मोनिका शर्मा से जाने स्ट्रेस मैनेजमेंट की कुछ टिप्सः

    सोशल मीडिया पर बर्बाद ना करें समय

    कोरोना की वजह से अब जीवन न्यू नॉर्मल के साथ आगे बढ़ रहा है। लोग सावधानी और सतर्कता से अपने काम पर जा रहे हैं। इसी सतर्कता का पालन करते हुए स्टूडेंट्स को भी बिना डरे जेईई और नीट की परीक्षाएं देनी चाहिए। परीक्षा के आखिरी वक्त में अब अपना समय सोशल मीडिया पर एग्जाम को लेकर चल रहे विवाद को देखने में बर्बाद ना करें। एग्जाम होने या ना होने पर स्थित में भी अपनी तैयारी पूरी रखें।

    कोरोना से जुड़ी खबरों को देखने से बचें

    टीवी पर कोरोना से जुड़ी खबरों को देखने से बचें, क्योंकि ऐसी खबरें आपके स्ट्रेस को और बढ़ा सकती है। परीक्षा के लिए खुद को इस तरह तैयार करें, जैसे आम समय में परीक्षा का आयोजन होता है। यदि परीक्षा स्थगित होती भी है, तब भी यह तैयारी आपको आगे काम ही आएगी और यदि परीक्षा होती भी है तो आप अपने आप को उसके लिए तैयार पाएंगे

    मौजूदा हालात में निगेटिविटी से दूर रहे और पॉजिटिविटी के साथ कोरोना से बचने के लिए और लोगों की तरह मास्क और ग्लव्स का इस्तेमाल और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए परीक्षा केंद्र पर जाएं।

    कोरोना के बीच परीक्षा के लिए खुद को तैयार करने के लिए अपनाएं यह टिप्सः

    • रोजाना 10 से 15 मिनट मेडिटेशन करें।
    • दिन में 2 से 3 बार थोड़े वक्त के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज भी करें।
    • उन चीजों को करें जिससे आपको रिलैक्सेशन मिले, जैसे कि गाने सुनना, शॉवर लेना, खाना पकाना आदि।
    • मौजूदा समय में ध्यान रखें कि आप अच्छी और पूरी नींद ले। हालातों का प्रभाव अपनी स्लीप साइकिल पर ना पड़ने दे।
    • अपने स्ट्रेस और अकेलेपन से बचने के लिए आप ऑनलाइन या वीडियो कॉल के जरिए ग्रुप स्टडीज भी कर सकते हैं।
    • परीक्षा को लेकर जारी असमंजस को नजरअंदाज करते हुए सिर्फ अपनी तैयारियों पर फोकस करें।
    • ऐसे लोगों से दूर रहने की कोशिश करें जो भविष्य की अनिश्चितता और नकारात्मकता के बारे में बातें करते हैं।