1 मकर सक्रांति पर PM मोदी ने लिखी कविता.
2 मोदी की कविता हुई सोशल मीडिया पर वायरल.
3 कविता की शुरुआत ‘अंबर से अवसर और आंख में अंबर’.

आपको बता दे की कल मकर सक्रांति पर पीएम मोदी ने अपनी लिखी एक कविता भी साझा की, जो लोगों को भा गई. पीएम मोदी ने गुजराती में इस कविता को लिखा, सूर्य देव का बखान किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को मकर संक्रांति के अवसर पर देशवासियों को खास तौर पर बधाई दी. और साथ ही और साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी लिखी एक कविता को भी साझा किया.जो लोगो को भा गई.

पीएम मोदी ने गुजराती में इस कविता को लिखा जिसमे सूर्य देव का बखान किया. फिर बाद में लोगों के साथ इसका हिन्दी अनुवाद भी साझा किया, जो कि वायरल हो गया.

पीएम नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आज सुबह मैंने गुजराती में एक कविता साझा की थी. कुछ साथियों ने इसका हिन्दी में अनुवाद कर मुझे भेजा है. उसे भी मैं आपके साथ साझा कर रहा हूं,

पीएम मोदी की कविता की शुरुआत ‘अंबर से अवसर और आंख में अंबर’ के साथ होती है, जो कि अंत में सूर्य देव का बखान करते हुए समाप्त होती है.

पीएम मोदी की ये कविता सोशल मीडिया पर वायरल हुई और चर्चा का विषय बन गई. लोगों ने मांग करते हुए कहा कि इसे देश की अन्य भाषाओं में भी ट्रांसलेट करवाना चाहिये.आपको बता दें कि इससे पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन के वक्त में मोर को लेकर एक कविता साझा की थी. पीएम मोदी ने अपने आवास में मोर को दाना खिलाते हुए तस्वीर साझसा की थी,साथ ही कविता भी लिखी थी. उसी कविता को सिंगर कैलाश खेर ने एक गाने का रूप दिया था.