केंद्र सरकार स्ट्रीट वेंडर्स के लिए एक विशेष माइक्रो क्रेडिट सुविधा लेकर आई है. इसे पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) नाम दिया गया है. इसके तहत फेरी या ठेला लगाकर सामान बेचने वाले लोग लोन प्राप्त कर सकते हैं. सरकार ने इन्हें पथ विक्रेता का नाम दिया है. इस योजना के तहत उन्हीं वेंडर यानी फेरीवालों को लोन की सुविधा मिलेगी जो 24 मार्च, 2020 या उससे पहले से ये काम कर रहे थे. अभी तक इसके लिए 5.6 लाख लोगों ने आवेदन किया है. जिसमें से 1.2 लाख से ज्यादा लोगों को लोन मिल चुका है और बाकी के लिए प्रक्रिया जारी है.

क्या है स्कीम (PM Street Vendor’s AtmaNirbhar Nidhi) और क्यों हुई इसकी शुरुआत?

कोविड 19 के कारण रेहड़ी वालों की रोजी रोटी पर बुरा प्रभाव पड़ा है. इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना (PM SVANidhi) की शुरुआत की है. इस योजना (Svanidhi Yojana) का उद्देश्य लॉकडाउन में दी गई ढील के बाद फेरीवालों को अपने रोजगार को दोबारा शुरू करने का मौका देना है. इसके तहत सरकार किफायती दर पर काम के लिए लोन देती है. इसके तहत गली-गली घूमकर, फुटपाथ या रास्ते पर ठेला लगाकर सब्जी, फल, तैयार खाने की चीजें, चाय, पकौड़े, ब्रेड, अंडे, कपड़े, दस्तकारी उत्पाद, किताबें/कॉपियां आदि बेचने वाले लोग शामिल हैं. इसके अलावा नाई की दुकान, मोची, पान की दुकान, लॉन्ड्री की सेवाएं भी इसमें शामिल हैं.

कितना मिलेगा लोन?

इस योजना के तहत आपको 10 हजार रुपये का लोन मिलेगा. साथ ही अगर आप इस लोन को समय से पहले वापस करने पर सरकार की तरफ से आपको 7 प्रतिशत की दर से ब्याज में सब्सिडी दी जाएगी. सब्सिडी की राशि तीन महीने में एक बार आपके खाते में जमा की जाएगी. इसके अलावा डिजिटल लेन-देन पर आपको मासिक यानी महीने में कैश बैक भी मिलेगा.

यह रकम सीधे आपके खाते में जमा होगी. डिजिटल लेन-देन के लिए आपको एक डेबिट कार्ड और आपके वेंडिंग स्टॉल के लिए एक क्यूआर कोड भी दिया जाएगा. जिसके माध्यम से आप ग्राहकों से पैसा ले सकेंगे. यही नहीं, अगर आप लोन का पैसा समय पर चुका देते हैं तो आपको इसके बाद और ज्यादा लोन की रकम मिल सकती है.

कहां से मिलेगा लोन?

अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, लघु वित्त बैंक, सहकारी बैंक, गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां, सूक्ष्म-वित्त संस्थाएं और एसएचजी बैंक से आप लोन ले सकते हैं.

इसके लिए आप अपने इलाके के किसी भी बैंकिंग कोरेस्पोंडेंट या सूक्ष्म वित्त संस्था के एजेंट से संपर्क कर सकते हैं. ये आपको आवेदन करने और मोबाइल ऐप या वेब पोर्टल में दस्तावेजों को अपलोड करने में मदद करेंगे. पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन ही पूरी की जानी है.