कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया से मुलाकात की. इस मुलाकात में वायु सेना प्रमुख ने प्रधानमंत्री को वायु सेना द्वारा कोरोना काल में किए जा रहे प्रयासों के बारे में अवगत कराया.

वायु सेना प्रमुख से हुई इस मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑक्सीजन टैंकर और आवश्यक वस्तुओं की सुरक्षित तरीके से और तेज़ आवाजाही पर जोर दिया. उन्होंने ये भी कहा कि कोरोना से जुड़े इन ऑपरेशन के दौरान इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि वायु सेना के कर्मी सुरक्षित रहें.

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने प्रधानमंत्री को सूचित किया कि भारतीय वायुसेना ने पूरे भारी भरकम वायु सेना के बेड़े की चौबीस घंटे तत्परता और मध्यम बेड़े की पर्याप्त संख्या को एक हब के रूप में संचालित करने के लिए आदेश दिये हैं. वे सभी तेजी से पूरे देश और विदेशों में भी कोविड टास्किंग को पूरा करने में लगे हैं. सभी बेड़े के लिए एयरक्रू को चौबीस घंटे के संचालन को सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है.

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने बताया कि आईएएफ सभी इलाकों को कवर करने के लिए बड़े और मध्यम आकार के हवाई जहाजों को तैनात कर रहा है. उन्होंने IAF द्वारा एक समर्पित कोरोना एयर सपोर्ट सेल के बारे में विस्तार से जानकारी दी, जिसमें कोविड से संबंधित कार्यों के लिए विभिन्न मंत्रालयों और एजेंसियों के साथ तेजी से समन्वय सुनिश्चित किया गया.

पीएम ने वायुसेना कर्मियों और उनके परिवारों के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली. एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने उन्हें अवगत कराया कि भारतीय वायुसेना के पास संतृप्ति टीकाकरण कवरेज हासिल कर लिया गया है.