राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ईंधन की कीमतों में हो रही लगातार वृद्धि और बढ़ती मंहगाई को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार कोविड वैश्विक महामारी में पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ाकर आमजन को मुश्किल में डाल रही है. कई राज्यों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये लीटर से अधिक हो गए हैं.

गहलोत ने कहा, ‘‘एक तरफ आम आदमी कोरोना से और आमदनी कम होने से परेशान है, वहीं दूसरी ओर मोदी सरकार मंहगाई से उसके लिए मुश्किल पैदा कर रही है.’’ मुख्यमंत्री ने एक बयान में दावा किया कि केंद्र सरकार की एक तिहाई कमाई पेट्रोल एवं डीजल पर कर से हो रही है. जब केंद्र सरकार को पेट्रोल डीजल पर कर कम करके आम आदमी को राहत देनी चाहिए थी, तब इस साल के बजट में इन पर एक नया कर लगा दिया, जिससे परिवहन लागत बढ़ गई है और सभी चीजों पर मंहगाई बढ़ रही है.’’

कई शहरों में पेट्रोल की कीमत 100 के पार

मई महीने में 15वीं बार तेल की कीमत बढ़ने के साथ देश में इनकी कीमत शनिवार अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं. मुंबई में पेट्रोल की कीमत शनिवार को 100 रुपए के पार हो गई. वहीं, दिल्ली में पेट्रोल इस समय 93.94 रुपए प्रति लीटर जबकि डीजल 84.89 रुपए प्रति लीटर पर मिल रहा है. राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के कई शहरों में पेट्रोल की कीमत पहले ही 100 रुपए के पार जा चुकी थी और शनिवार को मुंबई में भी इसने यह आंकड़ा पार कर लिया. राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में इस समय पेट्रोल और डीजल की कीमत देश में सबसे ज्यादा है.