भारत बायोटेक ने फैक्टशीट जारी करके बताया है कि किस बीमारी या अवस्था में लोगों को कोवैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए, हालांकि इससे पहले केंद्र सरकार ने इससे अलग ही बयान दिया था.

1 भारत बायोटेक ने बताया की ये लोग न लगवाए कोवैक्सीन.
2 एलेर्जी और बुखार वाले लोग न लगवाए कोवैक्सीन.
3 इसके साथ ही किसी बीमारी में या कोई दवाई चल रही हो तो बिना जानकारी के न लगवाए.

कोरोना से निपटने के लिए देशभर में कोवैक्सीन का काम किया जा रहा है. इसी बीच भारत बायोटेक ने एक लिस्ट जारी करके बताया है कि किस बीमारी या अवस्था में लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए. भारत बायोटेक के मुताबिक- यदि किसी बीमारी की वजह से आपकी इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है या आप कुछ ऐसी दवाएं ले रहे हैं, जिससे आपकी इम्युनिटी प्रभावित होती है तो आपको कोवैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए. बता दें कि इससे पहले केंद्र सरकार ने कहा था कि अगर आप इम्युनोडेफिशिएंसी से ग्रस्त हैं या इम्युनिटी सप्रैशन (Immunity Suppression) पर हैं, यानी आप किसी अन्य ट्रीटमेंट के लिए इम्युनिटी कम कर रहे हैं तो कोरोना वैक्सीन ले सकते हैं. मगर अब भारत बायोटेक द्वारा जारी बयान में ऐसे लोगों को कोवैक्सीन न लगवाने की सलाह दी गई है.

आपको बता दे की भारत बायोटेक के मुताबिक जिसको जिन्हें एलर्जी की शिकायत रही हो, बुखार लगता है, जो लोग ब्लीडिंग डिसऑर्डर से ग्रस्त हैं या खून पतला करने की दवाई ले रहे हो, गर्भवती महिलाएं, या जो महिलाएं स्तनपान कराती हो, इसके अलावा भी स्वास्थ्य संबंधी गंभीर मामलों में नहीं लगवानी चाहिए, जिसके बारे में पूरी जानकारी वैक्सीनेशन ऑफिसर को देनी चाहिए.

भारत बायोटेक का कहना है कि जब आप वैक्सीन लगवा रहे हों तो ऐसी बातों की जानकारी आपको वैक्सीनेशन ऑफिसर को देनी चाहिए. यदि किसी बीमारी की वजह से आपकी नियमित दवाएं चल रही हैं तो इसकी जानकारी भी आपको देनी चाहिए, यानी वैक्सीन लगवाने से पहले अपने बारे में आपको पूरी जानकारी देनी होगी.