पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान में यौन हिंसा बढ़ने के लिए अश्लीलता को जिम्मेदार ठहराया था. इमरान रविवार को टेली कॉन्फ्रेंसिंग से आम लोगों की समस्याओं को सुन रहे थे. उसी के दौरान एक कॉलर के यौन अपराधों से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए इमरान ने जो टिप्पणी की, उसकी हर तरफ आलोचना हो रही है. इमरान खान ने कहा था कि इस्लाम में पर्दे की व्यवस्था इसीलिए की गई है ताकि लोगों की बुरी नजरों से महिलाओं को बचाया जा सके. अब उनकी पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने भी इसे लेकर ट्वीट किया है.

कॉलर ने इमरान से पाकिस्तान में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा की बढ़ती घटनाओं का हवाला देते हुए सवाल किया था. कॉलर ने पूछा था कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए इमरान की पार्टी ‘पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ’ (PTI) क्या कर रही है.  इस पर इमरान ने जवाब दिया कि कुछ लड़ाइयां ऐसी होती हैं जिन्हें कानूनों से नहीं जीता जा सकता. जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, इमरान ने कहा कि समाज को खुद को फहाशी (अश्लीलता) से बचाना होगा. इमरान ने आगे कहा कि रेप और यौन हिंसा की जिन घटनाओं को मीडिया रिपोर्ट कर रहा है वो इस तरह के जो कुल अपराध हो रहे हैं, उनका एक फीसदी भी नहीं है. इमरान ने कहा कि रेप और यौन हिंसा के अपराध समाज में ‘कैंसर की तरह’ फैल रहे हैं.

इमरान ने कहा, दुनिया का इतिहास आपको बताता है कि जब भी समाज में अश्लीलता बढ़ती है तो दो चीजें होती हैं- सेक्स अपराध बढ़ते हैं और फैमिली सिस्टम टूटता है. इमरान ने ये भी कहा कि इस्लाम में पर्दा सिस्टम इसीलिए है कि ‘टेम्पटेशन पर काबू रखा जा सके’. इमरान के मुताबिक, कई लोग होते हैं जो अपनी इच्छाशक्ति पर काबू नहीं रख पाते हैं.

इमरान ने सत्तर के दशक में इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने के दिनों का जिक्र किया. इमरान ने कहा कि उस वक्त इंग्लैंड में ‘सेक्स, ड्रग्स और रॉक एन रोल’ कल्चर सिर उठा रही थी.  इमरान खान की इन टिप्पणियों पर उनकी पूर्व पत्नी जेमिमा खान ने कहा है कि ऐसे अपराधों को रोकने का दायित्व पुरुषों पर है. जेमिमा ने इसके साथ कुरान की आयत का भी जिक्र किया जिसमें पुरुषों से अपनी इन्द्रियों को काबू में रखने की बात कही गई है.

जेमिमा ने कहा, मुझे याद है कि कुछ साल पहले मैं सऊदी अरब गई थी और वहां एक निकाब पहने हुए बुजुर्ग महिला इस बात पर अफसोस जता रही थी कि कुछ लड़कों ने उनका पीछा किया और उन्हें परेशान किया. उन्होंने बताया कि लड़कों से पीछा छुटकारा पाने का सिर्फ एक ही तरीका था और वह था पर्दा हटाना. जेमिमा ने लिखा कि समस्या महिलाओं के पहनावे में नहीं है.

जेमिमा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, मैं उम्मीद कर रही हूं कि ये कोई गलतफहमी या अनुवाद की गलती हो, मैं जिस इमरान खान को जानती थी, वो हमेशा कहता था कि महिलाओं की जगह पुरुषों की आंखों पर पर्दा होना चाहिए.

जेमिमा इमरान खान की पहली पत्नी थीं और उनकी शादी साल 1995 में हुई थी. साल 2004 में दोनों का तलाक हो गया. जेमिमा और इमरान खान के दो बच्चे भी हुए. जेमिमा इंस्टाग्राम पर अपने बेटे और इमरान खान की पुरानी तस्वीरें शेयर करती रहती हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में टर्किश ड्रामा ‘Ertugrul’ को दिखाए जाने का बचाव किया था. इमरान ने कहा कि इस शो को पाकिस्तान में लाने का फैसला इसलिए किया गया क्योंकि इसमें कुछ भी विवादित या अनैतिक कंटेंट नहीं है.

इस बीच पाकिस्तान सरकार के एक प्रवक्ता ने सफाई दी है कि प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान के गलत मायने लगाए जा रहे हैं. प्रवक्ता के मुताबिक, पीएम समाज की प्रतिक्रियाओं पर बोल रहे थे और उन्होंने रेप जैसी बुराई को पूरी तरह खत्म करने के लिए सबके मिलकर काम करने पर जोर दिया. प्रवक्ता ने ये भी कहा कि इमरान खान रेप की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए अपनी सरकार की तरफ से हर कदम उठाए जाने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.