दिल्ली NCR समेत आस पास के कई राज्यों में प्रदूषण काफी बढ़ा हुआ है . दिल्ली- NCR के लोग इस से काफी परेशान हैं . इनसब चीज़ो के मद्देनज़र नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने आदेश जारी कर कहा की सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से अपील है की अपने राज्यों में 30 नवम्बर तक पटाखा बैन करे .

एनजीटी ने सोमवार को अपना आदेश सुनाते हुए दिल्ली-एनसीआर में 30 नवंबर तक पटाखों के चलाने पर रोक लगा दी. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि बाकी राज्यों में जहां एयर क्वालिटी खराब या खतरनाक स्तर पर है, वहां भी पटाखों को चलाने पर बैन होगा.एनजीटी ने कहा कि 9-30 नवंबर की मध्यरात्रि से एनसीआर में पटाखों की बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा.

आगे कहा की हालात की समीक्षा कर 30 नवंबर के बाद का फैसला लिया जायेगा . फ़िलहाल 30 नवंबर तक पूर्ण रूप से पटाखों पर बैन रहेगी .बता दें 30 तक वैसे सभी सभी राज्यों में पटाखों पर बैन रहेंगी जहाँ पिछले सालों जहां पिछले साल के आंकड़ों की तुलना में इस नवंबर में औसत एक्यूआई खराब या खतरनाक स्तर पर होगा.

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने ोाहले ही ग्रीन पटाखों पर बैन लगा दिया था तो वही उत्तर प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्यों ने फिलहाल पटाखों पर प्रतिबंध लगाने का कोई आदेश जारी नहीं किया था. दूसरी ओर पर्यावरण मंत्रालय ने कहा था कि फिलहाल उनके पास कोई ऐसी स्टडी नहीं है जिससे साफ हो सके कि पटाखों के इस्तेमाल के बाद कोरोना केस और बढ़ेंगे.