देश में बढ़ रहे कोरोना के प्रकोप के बीच अब हरिद्वार के महाकुंभ को लेकर सियासत तेज हो गई है. मुंबई की मेयर किशोर पेडणेकर (Kishori Pednekar)  ने कुंभ के श्रद्धालुओं पर विवादित बयान दिया है.

मुंबई: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ रहे मामलों के बीच मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर (Kishori Pednekar)  ने हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ (Haridwar Mahakumbh 2021) को लेकर विवादित बयान दिया है. मेयर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि जो लोग कुंभ मेले से लौट रहे हैं, वो प्रसाद में कोरोना बांटेंगे.

अपने खर्च पर क्वारंटीन हों श्रद्धालु

मीडिया से बात करते हुए मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर (Kishori Pednekar)  ने कहा कि कुंभ (Haridwar Mahakumbh 2021) में बड़ी संख्या में लोग स्नान को गए थे, जोकि अब अपने-अपने राज्य वापस लौट रहे हैं. ये लोग अब अपने-अपने राज्यों में प्रसाद के रूप में कोरोना (Coronavirus) बांटने का काम करेंगे. मेयर ने कहा, ‘इन सभी को अपने खर्च पर क्वारंटीन हो जाना चाहिए. मुंबई में भी हम ऐसा ही करने के बारे में सोच रहे हैं.’

5 प्रतिशत लोग नहीं मान रहे हैं नियम

मेयर ने दावा किया कि मुंबई में 95 प्रतिशत लोग कोरोना (Coronavirus) नियमों का पालन कर रहे हैं. केवल 5 प्रतिशत लोग ही ऐसे हैं, जो नियम नहीं मान रहे हैं. ऐसे लोग दूसरों के लिए परेशानी का कारण बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह की स्थिति है, उसको देखते हुए पूर्ण लॉकडाउन पर विचार किया जाना चाहिए.

बताते चलें कि कोरोना (Coronavirus) संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र देश में पहले स्थान पर बना हुआ है. राज्य के मुंबई, पुणे, ठाणे, नागपुर और उस्मानाबाद में कोरोना के लगातार केस सामने आ रहे हैं. राज्य के कुछ हिस्सों में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी और रेमेडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की भी खबरें आ रही हैं. जिसे देखते हुए सरकार ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़वाने और इंजेक्शनों की कीमत पर अंकुश लगाने में जुटी है.