नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मुंबई के मलाड में स्थित एक बेकरी पर छापेमारी की है. इस छापेमारी के दौरान चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. यहां केक और पेस्ट्री में ड्रग्स रखकर बेचा जा रहा था. ये पहली बार है जब किसी बेकरी से इस तरह ड्रग्स रैकेट का खुलासा हुआ है.

एनसीबी को जानकारी मिली थी कि इस तरह यहां बेकरी की आड़ में ड्रग्स बेचा जा रहा है. रेड के दौरान उन्हें यहां 160 ग्राम गांजा भी बरामद हुआ है. केक में ड्रग्स भरकर हाइप्रोफाइल इलाके में बेचा जाता था. अब एनसीबी इस बात की जांच कर रही है कि यहां ये कब से चल रहा था, बेकरी के ग्राहक कौन-कौन है और मास्टर माइंड कौन है. फिलहाल एनसीबी ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

बता दें, एनसीबी मुंबई में लगातार ड्रग्स मामले पर कार्रवाई कर रही है. 14 जून 2020 को बॉलीवुड एक्टर सुशांत की मौत से जुड़े बॉलीवुड-ड्रग्स माफिया जांच मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक और अन्य सहित 33 लोगों के खिलाफ 12,000 पन्नों की चार्जशीट की है.

हिटलर की बायोग्राफी में छिपे ड्रग्स को जब्त किया

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई जोनल यूनिट ने अप्रैल में एडोल्फ हिटलर की बायोग्राफी में छुपाए गए ड्रग्स की एक खेप को जब्त किया था. किताब की जांच करने पर, एलएसडी के 80 बोल्ट्स की एक व्यावसायिक छिपी हुई मात्रा पाई गई और उसे जब्त कर लिया गया. एलएसडी को कुछ युवाओं द्वारा डार्क नेट के माध्यम से कुछ यूरोपीय देशों से खरीदा गया था और भुगतान बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो मुद्राओं के माध्यम से किया गया था.