मुख्तार अंसारी समेत अन्य 5 लोगों पर विधायक निधि का दुरुपयोग करने का मामला दर्ज किया गया है। इन आरोपियों पर वगैर विद्यालय बने ही उसके नाम पर 25 लाख रुपया निकालने का आरोप है।
इस फर्जीवाड़ा पर रविवार को सरायलखंसी थाने में मुख्तार अंसारी समेत उनके सहयोगी आनंद यादव, बैजनाथ यादव, संजय सागर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ है। विधायक निधि से 2006-07 से 2017-18 तक फर्जी दस्तावेज लगाकर उक्त राशि निकाली गई है।
विधायक निधि का दुरुपयोग करने के लिए गुरु जगदीश सिंह बैजनाथ पहलवान विद्यालय के नाम से प्रस्ताव तैयार किया गया था। उस समय बैजनाथ यादव द्वारा स्वयं प्रधान रहते गड़बड़ करने का आरोप लगा है।
बैजनाथ ने अपनी पत्नी के नाम से अवैध तरीके से प्रस्ताव पारित करा कर ग्राम समाज की भूमि को कृषि हेतु आवंटन करा लिया गया। इस पूरे खेल में उस समय मौजूद कई अधिकारियों की गर्दन फंस  सकती है।
सरायलखंसी के थानाध्यक्ष ने बताया कि बिना विद्यालय बने ही विद्यालय के नाम पर निधि से भुगतान होना एक जांच
का विषय है।  बिना जांच किए अवैध तरीके से गलत दस्तावेज लगाकर विधायक निधि निकालने के मामले में कई अधिकारियों की संलिप्तता हो सकती है।