कोरोना महामारी को रोकने के लिए मास्क और सामाजिक गड़बड़ी जैसे नियमों का पालन करना अनिवार्य है। राज्य सरकारों ने भी इन नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश दिया है, लेकिन मध्य प्रदेश में दो पुलिसकर्मी कानूनी कार्रवाई के बजाय बर्बरता पर उतर आए।  इंदौर में एक ऑटो ड्राइवर को मास्क ठीक से न पहनने के लिए सड़क पर गिरा देने के बाद उसे बुरी तरह पीटा गया। दोनों पुलिसकर्मियों ने उसे लात और घूसों से बेरहमी से पीटा। पुलिस की बर्बरता का यह वीडियो वायरल हो जाने पर दोनो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार 35 वर्षीय ऑटो चालक कृष्णा अपने बीमार पिता से मिलने अस्पताल जा रहा था। उसने नकाब पहन रखा था लेकिन यह उसकी नाक के नीचे आया हुआ था। यह देखकर दो पुलिसकर्मियों ने उसे रोका और थाने जाने को कहा। जब ऑटो चालक ने इससे इनकार किया तो पुलिसकर्मियों ने उसको बीच सड़क पर गिरकर बर्बरता के साथ पिटाई शुरू कर  दी। युवक का बेटा पुलिसकर्मियों के सामने हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाता रहा की उसके पिता को छोड़ दो। लेकिन उन पुलिसवालों को ऑटो ड्राइवर के लड़के की गुहार पर भी कोई असर नही हुआ। सड़क पर खड़े एक व्यक्ति ने इसका वीडियो बनाया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

वीडियो में देखा जा सकता है कि दोनों पुलिसकर्मी बीच सड़क पर ऑटो चालक की पिटाई कर रहे हैं। ऑटो चालक का बेटा चिल्लाता रहा और अपने पिता को बचाने के लिए रोता है। लेकिन पुलिसकर्मी काफी देर तक उत्पात मचाते रहे। मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों के नाम कमल प्रजापति और धर्मेंद्र जाट बताए जा रहे हैं। वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है।  हाल ही में ऐसी तस्वीरें देश के अन्य हिस्सों से आई हैं, जहां केवल पुलिसकर्मी ही कोरोना नियमों का पालन करने के लिए कानूनों का उल्लंघन करते देखे गए।