बांग्लादेश की जानी मानी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन को लेकर विवादित बयान दिया है.  अपने लेखन को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वालीं तस्लीमा नसरीन ने कहा कि मोईन अली अगर क्रिकेटर नहीं होते तो वह सीरिया जाकर आतंकी संगठन ISIS से जुड़ जाते.

तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट कर मोईन अली पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि मोईन अली अगर क्रिकेट नहीं खेल रहे होते तो वह सीरिया जाकर ISIS से जुड़ जाते. तस्लीमा नसरीन का ये बयान तब आया है जब हाल ही में मोईन अली ने चेन्नई सुपरकिंग्स की जर्सी पर लगे बीयर के लोगों को हटाने की मांग की थी. हालांकि, बाद में इस पर CSK के सीईओ काशी विश्वनाथन का बयान आया कि मोईन अली ने लोगो हटाने जैसी किसी चीज की मांग नहीं की.

ट्वीट के बाद तस्लीमा नसरीन ट्विटर पर यूजर्स के निशाने पर आ गईं. बता दें कि तस्लीमा नसरीन को उनकी लेखनी के कारण मुस्लिम समुदायों की ओर से जान से मारे जाने की धमकी भी मिल चुकी है. तस्लीमा नसरीन को अपना देश तक छोड़ना पड़ा, जिसके बाद उन्हें स्वीडन की नागरिकता लेनी पड़ी.

वहीं, मोईन अली की बात करें तो वह आईपीएल के 14वें सीजन में चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेलते हुए नजर आएंगे. इससे पहले वह RCB का हिस्सा थे. फ्रेंचाइजी ने उन्हें रिलीज कर दिया था. चेन्नई ने 2021 के ऑक्शन में उन्हें 7 करोड़ में खरीदा.

धोनी की कर चुके हैं तारीफ

सीएसके से जुड़ने के बाद मोईन अली ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ की थी. उन्होंने कहा कि ज्यादातर क्रिकेटर उनकी कप्तानी में खेलना चाहते हैं. क्योंकि धोनी उनके खेल को सुधारने में मदद करते हैं. इंग्लैंड के ऑलराउंडर  ने कहा कि मैंने धोनी के नेतृत्व में खेलने वाले कई खिलाड़ियों से बात की है और उन्होंने मुझे बताया है कि वो कैसे आपके खेल में सुधार करते हैं. मेरा मानना है कि महान कप्तान ऐसा ही करते हैं.