कृषि कानून के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को आज 12वा दिन है , किसान दिल्ली के बॉर्डर पर डेरा जमा कर बैठे हैं। किसानो ने मंगलवार को भारत बंद करने का ऐलान किया है जो लोग किसानो के समर्थन में है वह भारत बंद में किसानो के साथ होंगे। किसानो के समर्थन में कई राजनैतिक दाल भी आगये हैं , हाल ही में बसपा प्रमुख मायावती ने भी किसानो का साथ देने की बात कही है। साथ ही दिल्ली सहित देश के कई ऑटो , रिक्शा यूनियन ने भी भारत बंद में किसानो को समर्थन देने की बात कही है।

देश की राजधानी दिल्ली में मंगलवार को भारत बंद होने की वजह से आम लोगो को यात्रा करने में दिक्कत हो सकती है। दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन के प्रमुख संजय सम्राट ने कहा की दिल्ली के कई टैक्सी ऑटो सर्विसेस मंगलवार को किसान आंदोलन के चलते भारत बंद में किसानो को समर्थन देंगे और अपना काम बंद रखेंगे। सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन के कमलजीत गिल ने भी किसानो को समर्थन देने की बात कही है , उनके यहाँ के ज़्यादातर ड्राइवर कैब सर्विसेस में काम करते हैं , हालांकि कुछ ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने भारत बंद में भाग लेने से दूरी बनाने की बात कही है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े भारतीय किसान संघ ने 8 दिसंबर को बुलाये गए भारत बंद में हिस्सा लेने से इंकार किया है। भारतीय किसान संघ ने भारत बंद से दूरी बनाने का बताया कारण , कहा की इस आंदोलन से राजनैतिक पार्टियां जुड़ गयी है। भारतीय किसान संघ का कहना ये भी है की किसानो को लोकतांत्रिक ढंग से अपनी बात सरकार से करनी चाहिए , और जो के ज्ञापन के द्वारा पहले ही हो चुकी है , तो राजनैतिक डालो का भारत बंद से जुड़ना भारतीय किसान संघ के मुताबिक सही नहीं है।