जब प्यार किया तो डरना क्या, प्यार किया कोई चोरी नहीं की, चुप-चुप आहें भरना क्या. खैर, इस गाने में कितनी भी सच्चाई क्यों ना हो लेकिन आज भी लोग प्यार करने और दुनिया के सामने इसे कुबूल करने से डरते हैं. ये सुपरहिट गाना जिस हसीना पर फिल्माया गया उनका नाम था मधुबाला. सुंदरता की देवी कहलाने वाली मधुबाला की जिंदगी में प्यार कई बार आया, लेकिन हर बार उनकी जिंदगी में तन्हाई ही दिखी. मधुबाला की लव लाइफ के बारे में उनकी जीवनी, ‘द मिस्ट्री एंड मिस्टिक ऑफ मधुबाला’, के मुताबिक, मधुबाला हमेशा एक डर में रहती थीं, क्योंकि वो हर उस आदमी को खो देती थीं जो उनसे प्यार करता था. आज की कहानी में आपको बताते हैं कि मधुबाला को कब-कब और किससे प्यार हुआ.

Childhood friend, Latif- मधुबाला का जन्म और पालन-पोषण दिल्ली में हुआ, बाद में वो एक्ट्रेस बनने के लिए मुंबई चली गईं. दिल्ली से मुंबई रवाना होते हुए मधुबाला अपने पड़ोसी लतीफ से दूर होने की वजह से बहुत दुखीं थीं. उन्होंने जाते वक्त लतीफ को लाल गुलाब दिया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, लतीफ अब भी हर साल 23 फरवरी (उनके निधन के दिन) मधुबाला की कब्र पर जाते हैं और उसके ऊपर लाल गुलाब रखते हैं.

Director, Kamal Amrohi- कहा जाता है कि मशहूर डायरेक्टर कमाल अमरोही और मधुबाला एक-दूसरे के साथ घंटों बिताते थे. कथित तौर पर, मधुबाला के पिता ने भी उनके रिश्ते को मंजूरी दे दी थी. हालांकि, कमाल उस वक्त सुपरस्टार मीना कुमारी के साथ शादी के रिश्ते में थे और मधुबाला उनकी दूसरी पत्नी नहीं बनना चाहती थीं. इस तरह दोनों के रिश्ते का अंत हो गया.

Actor, Premnath- फिल्म ‘बादल’ के सेट पर प्रेमनाथ और मधुबाला एक-दूसरे से मिले और प्यार हो गया. दोनों का रिश्ता 6 महीने तक चला था, जिसके बाद मधुबाल ने प्रेमनाथ से दूरी बना ली थी. मधुबाला की बहन ने अपने इंटरव्यू में दोनों के रिश्ते को लेकर बताया कि-‘उनका रिश्ता धर्म के आधार पर टूटा था.’

Dilip Kumar- दिलीप कुमार और मधुबाला की प्रेम कहानी खूब चर्चा में रही. फिल्म ‘तराना’ के सेट पर मधुबाला और दिलीप कुमार एक-दूसरे से पहली बार मिले थे. दोनों ने 9 साल तक एक-दूसरे को डेट किया था, फिर सगाई कर ली, लेकिन मधुबाला के पिता की वजह से दोनों का रिश्ता टूट गया.

Zulfiqar Ali Bhutto- ज़ुल्फ़िकार बॉम्बे उच्च न्यायालय में एक बैरिस्टर थे. ज़ुल्फ़िकार फिल्म ‘मुग़ल-ए-आज़म’ के सेट पर अक्सर मधुबाला को देखने जाया करते थे. हालांकि, जुल्फिकार के साथ उनका रिश्ता अभी भी एक रहस्य बना हुआ है.

Kishore Kumar- मधुबाला और किशोर कुमार ने फिल्म ‘चलती का नाम गाड़ी’ और ‘हाफ टिकट’ में काम किया और इसी दौरान दोनों को प्यार हो गया. साल 1960 में दोनों ने शादी कर ली थी और दोनों लंदन चले गए, वहां पता चला कि मधुबाला के दिल में छेद है और अब उनका ठीक होना मुमकिन नहीं है. उनकी बीमारी का पता चलते ही किशोर कुमार ने मधुबाला को उनके पिता के घर छोड़ दिया और 9 साल बाद 1969 में मधुबाला का निधन हो गया.