कोरोना पर काबू पाने के लिए देश के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरीके से लॉकडाउन लगाया जा रहा है. बिहार में जहां 6 सितंबर तक लॉकडाउन है वहीं पश्चिम बंगाल में आज और कल दो दिनों का लॉकडाउन है. राज्य की ममता सरकार ने कोरोनो को काबू में रखने के लिए राज्य में सप्ताह में दो दिन लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है.

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए इस लॉकडाउन की वजह से बृहस्पतिवार को जन-जीवन प्रभावित रहा. यहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से विमान सेवाएं निलंबित हैं और हावड़ा और सियालदह टर्मिनल से चलने वाली लंबी दूरी की ट्रेनों के समय में परिवर्तन किया गया है.

यह लॉकडाउन शुक्रवार को भी लागू रहेगा. इस दौरान दवा और दूध की दुकानें और पेट्रोल पम्प खुले रहते हैं.

कोलकाता और अन्य जिलों में अधिकतर लोगों के घरों में रहने से सन्नाटा पसरा रहा और आवश्यक सेवाओं में लगे वाहनों के अलावा अधिकतर सार्वजनिक तथा अन्य वाहन सड़कों से नदारद रहे.

कोलकाता और अन्य जिलों में प्रमुख चौराहों पर पुलिस कर्मी तैनात हैं ताकि लोगों को बेवजह घरों से बाहर निकलने से रोका जा सके. अंतर-राज्य जलमार्ग पर फेरी सेवाएं भी निलंबित हैं.

पश्चिम बंगाल में बुधवार तक कोविड-19 के 1,25,922 मामले सामने आ चुके थे, जिनमें से 2,581 लोगों की जान जा चुकी है.