ऐसे समय जब धार्मिक आस्‍था का प्रतीक कुंभ महापर्व शुरू होने में कुछ ही दिन रह गए हैं, हरिद्वार के व्यापारी सरकार की तरफ से जारी किए गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) और व्यवस्था से नाराज हैं. इन व्‍यापारियों का कहना है कि कोविड-19 टेस्ट के ऐसे नियम रख दिए हैं कि ज़्यादातर लोग कुंभ में आ नहीं पाएंगे. यही नहीं, राज्य के जो नागरिक किसी जरूरी काम से एक बार राज्य के बाहर निकल गए तो उनको भी टेस्ट कराकर ही राज्य में एंट्री मिलेगी यानी एक तरह से दो माह के लिए यह लॉकडाउन जैसी स्थिति हो जाएगी क्‍योंकि लोगों को बिना टेस्ट रिपोर्ट के उत्तराखंड की बाउंड्री में ही एंट्री नहीं मिलेगी.

व्‍यापारियों के मुताबिक, रेलवे ने भी घोषणा की है कि शाही स्नान से दो दिन पहले हरिद्वार में ट्रेन आनी बंद हो जाएंगी तो ऐसे में श्रद्धालु कैसे आएंगे, यह सोचने वाली बात है. इसके अलावा स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) में कहा गया है कि जब शाही स्नान होगा तब केवल जरूरत की चीजों की दुकानें ही खुल सकेंगी, इसका व्यापारियों को बहुत नुकसान होगा क्योंकि कुंभ में सबसे बड़ा दिन शाही स्नान का ही होता है और अगर उस दिन भी दुकान और बाजार बंद कर दिए तो हम व्‍यापार कब कर पाएंगे.