कृषि कानून के खिलाफ किसान आंदोलन का आज 19 वा दिन है। किसान अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं, तोह वही सरकार अपने फैसलों पर अड़े हुए हैं। सरकार किसानो से बातचीत करके समाधान निकालने की कोशिश में लगी हुई है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकल रहा है। दिल्ली के सिंधु बॉर्डर से लेकर यूपी-दिल्ली सीमा के गाजीपुर तक किसान सुबह 8 से 5 बजे तक उपवास पर बैठे हुए हैं।

थोड़ी देर में कृषि मामलों को लेकर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक होगी, जिसमें अमित शाह भी शामिल होंगे। बता दें कि शाह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर किसान नेताओं से कई दौर की बातचीत कर चुके हैं। लेकिन अब तक कोई समाधान नहीं निकला है।

मेरठ जाने वाले ग़ाज़ीपुर-मेरठ रूट पर किसानो ने डेरा जमा रखा है और इस रुट को ब्लॉक करदिया है। पुलिस इन किसानो को रास्ते से हटाने की कोशिश कर रही है। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चौधनी ने कहा कि सरकार MSP के मुद्दे पर गुमराह कर रही है। गृह मंत्री अमित शाह ने 8 दिसंबर की मीटिंग में बताया था कि सरकार सभी 23 फसलों को MSP के तहत नहीं खरीद सकती है क्योंकि इसपर 17 लाख करोड़ रुपये का खर्च आएगा।