ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज केन रिचर्ड्सन इस साल आईपीएल नहीं खेलेंगे। वे जल्द पिता बनने वाले हैं। इसलिए उन्होंने आईपीएल से हटने का फैसला किया। उनकी जगह स्पिनर एडम जांपा को आरसीबी में शामिल किया गया है। उन्हें इस बार विराट कोहली की अगुआई वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 4 करोड़ में खरीदा था।

वे पिछली बार 2016 में आईपीएल खेले थे। रिचर्ड्सन फिलहाल इंग्लैंड दौरे पर टी-20 औऱ वनडे सीरीज खेलने गई ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ हैं।

रिचर्ड्सन के नहीं खेलने से तैयारियों पर असर पड़ेगा: हेसन

रिचर्ड्सन के हटने से आरसीबी टीम की तैयारियों को झटका लगेगा। टीम के कोच माइक हेसन ने कहा कि आप इस बात को लेकर निराश हैं कि आईपीएल के इस सीजन में टीम केन की स्किल्स का इस्तेमाल नहीं कर पाएगी। वे अभी अपने खेल के टॉप पर हैं। वे पहली बार पिता बनने जा रहे हैं और इस मौके पर अपनी पत्नी के साथ रहना चाहते थे। हम उनके साथ हैं।

जांपा से हमारी स्पिन गेंदबाजी मजबूत होगी: आरसीबी के कोच

उन्होंने कहा कि जांपा के टीम से जुड़ने से हमारी स्पिन गेंदबाजी और मजबूत होगी। क्योंकि यूएई की कंडीशंस में स्पिन गेंदबाजों को आगे जाकर पिच से मदद मिलेगी।

हेजलवुड भी बढ़ते कोरोना मामलों से चिंतित

रिचर्ड्सन का फैसला ऐसे वक्त आया है, जब ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज जोश हेजलवुड ने चेन्नई सुपरकिंग्स में कोरोना के मामले सामने आने के बाद आईपीएल को लेकर चिंता जताई है। सीएसके टीम में 2 खिलाड़ियों समेत टोटल 13 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

आईपीएल के करीब आने पर कोई फैसला लू्ंगा: हेजलवुड

हेजलवुड ने कहा कि फिलहाल मेरा ध्यान इंग्लैंड से होने वाली टी-20 और वनडे सीरीज पर है। लेकिन आईपीएल करीब आएगा, तो जरूर इसे लेकर कोई ठोस फैसला लेना होगा। सुरेश रैना पहले ही भारत लौट चुके हैं और टीम के एक और गेंदबाज हरभजन सिंह के खेलने पर भी संशय हैं। वे भी बढ़ते कोरोना मामलों से डरे हुए हैं।

आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया के सबसे ज्यादा 17 खिलाड़ी

इस साल आईपीएल में विदेशी टीमों में सबसे ज्यादा 17 खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के हैं। इन 17 में से 11 इंग्लैंड दौरे पर गई ऑस्ट्रेलिया की टी-20 टीम में शामिल हैं। इनमें एडम जांपा, डेविड वॉर्नर, मार्कस स्टोइनिस, स्टीव स्मिथ, जोश फिलिप, मिशेल मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, एलेक्स केरी, जोश हेजलवुड, एरॉन फिंच और पैट कमिंस हैं। आईपीएल के 13वें सीजन के लिए हुई नीलामी में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर पैट कमिंस सबसे महंगे 15.50 करोड़ में बिके थे। वह इस लीग के इतिहास में सबसे ज्यादा कीमत पाने वाले विदेशी खिलाड़ी हैं। उन्हें कोलकाता ने खरीदा था।